ब्लॉगिंग कैसे सीखें? HOW TO LEARN BLOGGING IN HINDI Part-8

ब्लॉगिंग कैसे सीखें? ब्लॉगिंग क्या है? ब्लॉग की सेटिंग्स कैसे सही करें? HOW TO LEARN BLOGGING IN HINDI

ब्लॉगिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाएँ? WHAT IS BLOGGING AND ALL ITS BASICS IN HINDI भाग:१

ब्लॉगस्पॉट की मदद से 2 मिनट में ब्लॉग कैसे बनाएँ? (Step-by-Step) भाग:२

ब्लॉग कैसे लिखें? भाग:३

SEO क्या है? पूरी जानकारी | SEO in Hindi – भाग:४

अपने ब्लॉग के लिए अच्छे आर्टिकल कैसे लिखें? | WRITE ARTICLES FOR BLOG IN HINDI भाग: ५

ब्लॉग, वेबसाइट बनाने के 3 सबसे बड़े प्लेटफॉर्म्स | BEST BLOGGING PLATFORMS IN HINDI भाग : ६

ब्लॉगिंग की शुरुआत में इन गलतियों से बचें – भाग : ७

बहुत सारे लोगों का सवाल होता है कि ब्लॉगिंग कैसे सीखें? क्या इसे सीखने के लिए कोई कोर्स करना पड़ता है या फिर इसे खुद से सीखा जा सकता है?

अंग्रेजी में एक कहावत है- “PRACTICE MAKES A MAN PERFECT!” यानि प्रैक्टिस करने से ही एक व्यक्ति बेहतर बनता है। ब्लॉगिंग पर भी यह बात काफी हद तक लागू होती है।

ब्लॉगिंग कोई Rocket Science नहीं है जिसके लिए आपको बहुत कुछ पढ़ना होगा।। अपनी ब्लॉगिंग स्किल को आप लगातार नई-नई चीजें सीखकर और उन्हें अपने ब्लॉग पर प्रयोग करके आसानी से बेहतर बना सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं कि आप एक सिस्टमैटिक तरीके से ब्लॉगिंग कैसे सीख सकते हैं?-

ब्लॉगिंग सीखने का तरीका | LEARN BLOGGING IN HINDI

1) सबसे पहले एक अच्छा-सा ब्लॉग बनाइये (Create A Blog):

ब्लॉगिंग सीखने के लिए सबसे पहली जरूरत है- एक ब्लॉग की। ब्लॉगिंग आप तभी सीख पाएंगे, जब आपके पास एक ब्लॉग होगा जिसपे आप चीजों को प्रयोग कर पाएंगे और पता लगा पाएंगे कि कौन-सी चीज काम करती है और कौन-सी नहीं!

अगर आपको तकनीक की ज्यादा जानकारी नहीं है तो आप ब्लॉगर.कॉम की मदद से फ्री में एक छोटा-सा ब्लॉग बनाकर उसपे ब्लॉगिंग शुरू कर सकते हैं। वहीं अगर आप तकनीक का अच्छा-खासा नालिज रखते हैं तो आप wordpress.org का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आप मोबाइल, टैबलेट या फिर कंप्युटर किसी भी डिवाइस की मदद से ब्लॉग बना सकते हैं और उसे मैनेज कर सकते हैं बस आपके डिवाइस में ऐक्टिव इंटरनेट कनेक्शन होना जरूरी है।

2) इंटरनेट पर ब्लॉगिंग के बारे में पढिए (Read About Blogging on Internet):

एक बार आप ब्लॉग बना लेते हैं तो आपको उसपे सीधे लिखना शुरू नहीं कर देना है। बल्कि सबसे पहले आपको इंटरनेट पर ब्लॉगिंग से जुड़ी बेसिक चीजों के बारे में पढ़ना है।

जैसे…

  • ब्लॉगिंग क्या है?
  • ब्लॉगिंग कैसे सीखनी चाहिए?
  • ब्लॉगिंग टिप्स
  • अच्छा लेख कैसे लिखें?
  • ब्लॉग की सेटिंग्स कैसे सही करें?
  • ब्लॉगिंग में कौन-कौन-सी गलतियाँ नहीं करनी चाहिए?

इस तरह से ब्लॉगिंग के बारे में इंटरनेट पर बहुत ज्यादा जानकारी उपलब्ध है। आपको इन्हें रोज थोड़ा-थोड़ा करके पढ़ लेना है। मनाचेटॉक्सहिन्दी, NeilPatel, Backlinko, सोचोकुछनया जैसे बहुत सारे ब्लॉग्स हैं जो ब्लॉगिंग से जुड़ी बहुत सारी जानकारी आपतक फ्री में पहुंचाते हैं। आपको उन्हें पढ़कर अच्छी तरह से समझ लेना है।

3) एसईओ के बारे में पढिए (Read About SEO):

आपने ब्लॉगिंग के बारे में पढ़ लिया है लेकिन ब्लॉगिंग का एक बहुत जरूरी हिस्सा है- SEO. जिसका मतलब होता है- Search Engine Optimisation.

आसान भाषा में कहें तो SEO सर्च इंजनों जैसे- गूगल में अपने ब्लॉग को सबसे टॉप पे रैंक करने की तकनीके होती हैं जिससे हमारे ब्लॉग पर बहुत सारा फ्री ऑर्गैनिक ट्रैफिक आता है।

एसईओ के बारे में बहुत सारे ब्लॉग इंटरनेट पर मौजूद हैं जिन्हें आपको अच्छे से पढ़ लेना है। एक बार आप SEO की techniques को जान लेते हैं तो आपको ब्लॉगिंग आसान लगने लग जाती है।

4) सीखी हुई बातों को अप्लाइ करें (Apply Things That You’ve Learnt):

कहते हैं- “Practice Makes A Man Perfect!” यानि कि अगर आप अपने नालिज का प्रयोग नहीं करोगे तो परफेक्ट नहीं बन पाओगे।

इसलिए अभी स्टेप 2 और 3 में हमने जिन बातों को जाना उन्हें आपको अपने ब्लॉग पर अप्लाइ करना  है। जब आप Blogging और SEO से जुड़ी इन चीजों को अपने ब्लॉग पर अप्लाइ करते हैं तो आपको पता चलता है कि कौन-सी चीजें काम करती हैं और कौन-सी नहीं!

इस तरह से आप भविष्य में उन चीजों को अपने ब्लॉग पर प्रयोग कर सकते हैं जो आपके अनुभव से काम करती हैं और जो नहीं करती हैं उन्हें आप अपनी लिस्ट से बाहर कर सकते हैं।

ध्यान रहें, चीजों को जानना और उनका अनुभव होना दोनों अलग-अलग बातें हैं। अगर आप सीखी हुआ बातों को अप्लाइ नहीं करते हैं तो उनसे आपको कोई खास फायदा नहीं होने वाला है। इसलिए जितना भी सीखें उसका प्रयोग करें।

उदाहरण के लिए, अगर आपने कहीं पढ़ा, कि लंबी और detailed पोस्ट लिखने से गूगल में वह अच्छी position पर रैंक करती है तो अपने ब्लॉग पर एक लंबी पोस्ट लिखिए और एक छोटी और देखिए कि कौन-सी पोस्ट बेहतर तरीके से रैंक करती है।

इस तरह आप वास्तव में पता लगा पाएंगे कि कौन-सी बात सही और कौन-सी मात्र एक मिथ!

5) अनुभवी ब्लॉगरों से सीखें (Learn From Experienced Bloggers):

आप हर चीज को अनुभव करेंगे तो बहुत ज्यादा समय लग जाएगा। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि हम दूसरे लोगों के अनुभवों से सीखें।

उदाहरण के लिए, अगर आप एक नूबी ब्लॉगर हैं तो आप मनाचेTalks हिन्दी  में लिखें गए लेखों का राइटिंग स्टाइल नोट कर सकते हैं। आप इससे सीख सकते हैं कि बेहतर आर्टिकल कैसे लिखे जाते हैं।

आप बहुत सारे ब्लॉग पढ़कर उनमें आसानी से नोटिस कर सकते हैं कि उनमें SEO कैसे किया गया है और कैसे व किन जगहों में targeted keywords को इन्सर्ट किया गया है।

इस तरह आप बहुत सारी बातों को naturally समझ जाएंगे और फिर आप उन्हें अपने ब्लॉग पर लागू कर सकते हैं।

6) बेहतर तरीके से लिखने का तरीका सीखिए (Adopt Better Writing Style):

ब्लॉगर एक राइटर होता है जो इंटरनेट पर लिखता है। इसलिए एक अच्छा ब्लॉगर बनने के लिए यह बेहद आवश्यक है कि आप एक बेहतर लेखक बनें।

बेहतर लेखक बनने के लिए यह एक जरूरी शर्त है कि आपका लिखने का तरीका लाजवाब हो। आप लोगों को सिर्फ अच्छी जानकारी न देते हों बल्कि आप उन्हें उस जानकारी को एक शानदार तरीके में पेश करके देते हों जिसे डाईजेस्ट करने में उन्हें आसानी हो।

अपने लिखने के तरीके को बेहतर बनाने के लिए आप अपने लेख में कहानी, कोई किस्सा, कोई रोचक तथ्य या फिर उस टॉपिक से जुड़ा अपना कोई अनुभव साझा कर सकते हैं। इससे लोगों को आपके पॉइंट को समझने में आसानी होगी और आप अपनी बात को अच्छे से डिलिवर कर पाएंगे। और यही एक अच्छे लेखक की निशानी है।

7) क्या ब्लॉगिंग सीखने के लिए कोई कोर्स है? (IS THERE ANY COURSE TO LEARN BLOGGING):

जितना मैं जानता हूँ, ब्लॉगिंग के लिए कोई प्रोफेशनल कोर्स फिलहाल तो अवैलबल नहीं है जिसके लिए आप किसी इंस्टिट्यूट को जॉइन करें और वहाँ जाकर ब्लॉगिंग सीखें।

लेकिन अगर आप इस तरीक से ब्लॉगिंग करने का सोच रहे हैं तो आप Digital Marketing का कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स में आपको ब्लॉगिंग का बेसिक सिखाते हैं और SEO, SEM, SMM के अलावा भी इंटरनेट से जुड़ी बहुत सारी चीजे सिखाते हैं।

हालांकि ब्लॉगिंग के लिए बड़े लेवल पर अभी तक तो कोई खास कोर्स उपलब्ध नहीं है। क्योंकि ब्लॉगिंग कोई टेक्नीक नहीं है यह एक स्किल है जो खुद से प्रैक्टिस करने से निखरती है।

एक सीस्टमैटिक ढंग से ब्लॉगिंग सीखने के लिए आप यूट्यूब या फिर udemy पर मौजूद कोर्सेस को देख सकते हैं इनसे आपको काफी फायदा होगा।

हमेशा याद रखें- “ब्लॉगिंग इंटरनेट से जुडा काम है और इसे इंटरनेट की ही मदद से आसानी से सीखा जा सकता है।”

CONCLUSION:

ब्लॉगिंग सीखने के लिए कोई खास स्टेप्स नहीं है। आपको इसमें महारथ हासिल करने के लिए बहुत सारी अलग-अलग चीजों/टेक्नीक को सीखना पड़ेगा। इनके लिए आपको random तरीके अपनाने पड़ेंगे।

आखिर में यही कहूँगा कि अगर आप ब्लॉगिंग सीखना चाहते हैं तो..

  • सबसे पहले एक अच्छा रीडर बनें।
  • फिर एक अच्छा लेखक बनें, और..
  • SEO करना भी अच्छी तरह से सीखें।

उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेन्ट के माध्यम से जरूर बताएँ।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *