पेट दर्द से निजात पाने के पांच सरल घरेलू उपचार

पेट दर्द से निजात पाने के पांच सरल घरेलू उपचार

आपके घर में कई ऐसी चीजें मौजूद है जो आपके पेट के दर्द को सही कर सकती है। और आज के इस लेख में हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे।

पूरे दिन हमसब मुख्य रूप से पेट के लिए ही संघर्ष कर रहे होते हैं। ताकि हम अपने और अपने परिवार का पेट भर सकें।

यहां तक कि हम आदि काल के भी इतिहास से देखें, तो हमारा मानवीय जीवन, पेट भरने के एक मात्र मुख्य उद्देश्य पर केंद्रित है।

पहले हम कंद – मूल, कच्चे मांस आदि का सेवन करते थे। अग्नि की खोज हुई तो फिर हम भोजन को पका कर खाने लगे । धीरे धीरे समय के साथ हम अलग अलग मसालों का उपयोग कर अलग अलग स्वादों के व्यंजन बनाने लगे ।

लेकिन जैसे जैसे आपका आहार बढ़ता गया, वैसे वैसे पेट की समस्याएं भी समय के साथ बढ़ती चली गई। आज के समय में पेट का दर्द एक आम समस्या हो गई है।

ऐसे व्यक्ति को ढूंढना असंभव है, जिसे कभी पेट में दर्द न हुआ हो।

आपके घर में कई ऐसी चीजें मौजूद है जो आपके पेट के दर्द को सही कर सकती है। और आज के इस लेख में हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे।

तो आइए जानते हैं इन सरल घरेलू नुस्खे के बारे में

1) नींबू

नींबू हर किसी के घर में एक स्थायी घटक है जो हमारे डेली यूज में काम आता है।

पर क्या आप जानते हैं, पेट दर्द के लिए नींबू एक बहुत ही अच्छा उपाय है।

यह गैस की समस्या को दूर करता है औऱ अनपचे भोजन को पचाने का काम करता है।

नींबू का रस यदि अदरक के रस के साथ मिलाकर सुबह सुबह पिया जाए तो पित्त की समस्या से होने वाले पेट दर्द को रोकने में भी मदद करता है।

2) अदरक

अदरक भी आपके रसोई की स्थायी सामग्री है। पिछले अंक में मैंने नींबू के साथ अदरक की भी चर्चा की थी।

अदरक के रस को नींबू रस के साथ सुबह सुबह पीने से पित्त की समस्या से होने वाले पेट दर्द तुरंत बन्द हो जाते हैं।

पेट दर्द के लिए नींबू चाय भी एक बेहतरीन विकल्प है। क्योंकि चाय तो लगभग सभी लोग पीते हैं।

3) पुदीना

पुदीना का उपयोग कई खाद्य पदार्थों में किया जाता है। पुदीने की चटनी तो एक बहुत ही प्रसिद्ध व्यंजन है।

पुदीने में कई औषधीय गुणों के कारण इसका उपयोग कई अंग्रेजी अथवा आयुर्वेदिक दवाओं के रूप में किया जाता है।

पुदीने के रस का उपयोग पेट दर्द के लिए किए गए काढ़े के रूप में किया जाता है।

4) शहद

आपको मिलने वाला शुद्ध शहद मधुमक्खियों के मेहनत का फल है।

मधुमक्खियां शहद इकट्ठा करने और इसे अपने छत्ते में संग्रहीत करने के लिए प्रति दिन हजारों फूलों पर चलती है।

शहद का उपयोग कई खाद्य पदार्थों में किया जाता है। शहद में औषधीय गुणों का भंडार होता है।

शहद का उपयोग वजन घटाने, चर्बी कम करने जैसी कई चीजों के लिए किया जाता है।

लेकिन मुख्य रूप से पेट दर्द की बात करें तो शहद बहुत उपयोगी है। नींबू की चाय में थोड़ा सा शहद मिला देने से इसके औषधीय गुण बढ़ जाते हैं और पेट दर्द से राहत मिल जाती है।

5) सोडा

सोडा का उपयोग सिरपों में होता है। मुख्य रूप से सोडा का उपयोग पेय पदार्थों के रूप में किया जाता है।

लिम्का, थम्सअप जैसे ठंडे पेय पदार्थों में इसका उपयोग होता है।

स्पार्कलिंग सोडा देखकर आपकी प्यास और बढ़ जाती है। यह सोडा भी पेट दर्द के लिए अमृत समान है। सिर्फ सोडा पीने से भी पेट दर्द में आराम मिलता है।

लेकिन

सोडा में नींबू या अदरक का रस मिलाकर इसके औषधीय गुणों को बढ़ाया जा सकता है। और इसे पीने से पेट दर्द तुरंत बन्द हो जाता है।

6) जीरा

भोजन में जीरा एक स्थायी घटक है। जीरा डालने से भोजन का मूल स्वाद दो गुना हो जाता है।

स्वाद बढ़ाने के लिए कई खाद्य पदार्थों में जीरा पाउडर का उपयोग किया जाता है। पेट खराब होने पर भी जीरा का उपयोग है।

1 चम्मच जीरा खाने या इसके रस पीने से पेट तुरंत ठीक हो जाता है।

और सबसे महत्वपूर्ण चीज की,

हम क्या खाते हैं कितना खाते हैं कैसे खाते हैं इसका हमें ध्यान रखना चाहिए। अस्वास्थ्यकर वसीय भोजन भी हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और पेट के लिए भी हानिकारक है।

समय पर भोजन और समय पर नींद बहुत महत्वपूर्ण है। इससे पेट दर्द की समस्या दूर रहेगी।

नित्य व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम हमारे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है जो हमारे अनपचे भोजन को पचाने में प्रमुख भूमिका देता है।

भोजन के बाद थोड़ी देर टहलना जरूर चाहिए।

और अब सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक आपके पेट दर्द की गंभीरता को भी जानना है। ये घरेलू उपचार अपच भोजन अथवा पित्त से हुए दर्द के लिए है।

अगर आपका पेट हर रोज दर्द करता है या बहुत दर्द करता है तो बिना समय गंवाए डॉक्टर से परामर्श लें।

कई गंभीर बीमारियां पहले से नजरअंदाज किये गए पेट दर्द से शुरू होती है। इसलिए आपको अपने शरीर की उचित देखभाल करनी है।

यह ध्यान रखें की इस लेख में दी गई जानकारी चिकित्सा उपचार के विकल्प के रूप में नहीं दी गई है। यह सिर्फ एक घरेलू उपचार के तौर पर ही विश्वसनीय है।

दोस्तों, कमेंट्स में बताए, लेख कैसा लगा…. आप हमसे और किन विषयो में सुनना चाहेंगे। और हाँ, अपने दोस्तों में लेख शेअर जरूर करें।

 

 

आपकी समस्या के अनुसार डॉक्टर की राय जरूर लें।/ The information is not a substitute for professional medical advice, diagnosis, or treatment.

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *