फूल भी कर सकते हैं कई रोगों का उपचार 

फूलों के औषधीय गुण गुलाब के औषधीय गुण सूरजमुखी के फूल के औषधीय गुण

पेड़-पौधों की दुनिया में फूलों का बहुत ही खास महत्व होता है और रंग-बिरंगे फूल इस संसार को सुंदर और आकर्षक बनाने का काम करते हैं।

संसार में तरह-तरह के फूल पाए जाते हैं और फूलों का सौंदर्य सभी के मन को मोह लेता है।

फूलों की खुशबू हमारे आसपास के वातावरण को महकाती है तथा हवा में  मौजूद उनकी सुगंध सबके मन को प्रसन्न करने का काम करती है।

फूल हमारे घर-आंगन को सजाने के साथ-साथ और भी कई तरह से उपयोगी होते हैं तथा इनका विभिन्न प्रकार से उपयोग होता है।

क्या आपने कभी यह भी सोचा है कि हमारे आसपास नज़र आने वाले ये फूल अपनी सुंदरता या महक के अलावा कुछ और भी महत्व रखते हैं या इनमें किसी प्रकार के औषधीय गुण भी मौजूद हो सकते हैं?

अगर अब तक नहीं सोचा तो सोचना शुरू कर दीजिए, क्योंकि फूलों में अनेक प्रकार के औषधीय गुण विद्यमान पाए जाते हैं और जिन फूलों को हम हर रोज अपने आसपास देखते हैं वही फूल अनेक स्वास्थ्य-समस्याओं के उपचार में हमारी मदद कर सकते हैं।

1) गुलाब के औषधीय गुण

गुलाब के फूल से तो आप सभी वाकिफ हैं,पर क्या इसके औषधीय गुणों के बारे में भी आपको कोई जानकारी है? इसमें अनेक औषधीय गुण मौजूद पाए जाते हैं और यह विटामिन ‘सी’ से भरपूर भी होता है। हम इसके उपयोग से कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं-

1) यह उपभोग के योग्य होता है तथा रक्त की सफाई तथा रक्त के प्रवाह में  सुधार कर सकता है।

2) गुलाब से तैयार जल यानी रोज वाॅटर का आई ड्राप्स के रूप में इस्तेमाल करके आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

3) इससे बने गुलुकंद के उपभोग से पेट के रोगों में आराम मिल सकता है, जैसे कि यह आंतों की जलन को कम करने के साथ-साथ पेट की अल्सर से बचाव भी करता है।

4) गरमी के मौसम में इसका सेवन डिहाइड्रेशन से रक्षा करता है।

5) लाल गुलाब में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट मेलेनिन की मात्रा को नियंत्रित करके त्वचा को स्वस्थ बनाने के साथ-साथ उससे संबंधित कई समस्याओं, जैसे-मुहांसों, दाग-धब्बों, उसका रंग निखारने आदि में मदद कर सकते हैं।

इसके लिए आप गुलाब के फूलों में शहद, मलाई तथा गुलाब जल मिलाकर पेस्ट तैयार करके अपनी त्वचा पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

२] कूजा या जंगली गुलाब के औषधीय गुण

कूजा जिसे जंगली गुलाब के रूप में भी जाना जाता है, औषधीय गुणों से भरपूर होता है। आयुर्वेद के अनुसार यह शीत, कटु, मधुर, लघु, तथा त्रिदोष  शामक प्रकृति का होता है और इसी कारण कई रोगों के उपचार में असरकारक सिद्ध होता है।

1) कूजा के फूलों का इस्तेमाल दस्त, रक्त स्राव, रक्त विकार, घावों, जलन आदि के उपचार में मदद कर सकता है। इसके अलावा यह शरीर में वात-पित्त की गड़बड़ी को भी ठीक कर सकता है।

३] गेंदे या मैरीगोल्ड के फूल (झेंडू) के औषधीय गुण

गेंदे के फूल में भी कई तरह के औषधीय गुण विद्यमान पाए जाते हैं और इसी कारण यह कई स्वास्थ्य समस्याओं के उपचार में मदद कर सकता है।

1) इसमें एंटीबायोटिक गुण उपस्थित होते हैं और इसे एंटीबायोटिक के तौर पर उपयोग किया जा सकता है।

2) इसमें ऐसे एंटीऑक्सीडेंट निहित होते हैं जो आंखों को निरोग या स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

3) इसमें कुछ ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं जो पेट की अल्सर या घावों के इलाज में मदद कर सकते हैं।

4) इसमें उपस्थित ऐंटीसेप्टिक तत्व भी फायदेमंद होते हैं। इसके फूलों को तेल में पका कर उस तेल से गर्मियों में त्वचा पर मालिश करने से फोड़े-फुंसियों से बचाव होता है।

5) गेंदे के पानी से मुंह धोने या उसमें नहाने से तेलीय त्वचा से छुटकारा मिल सकता है।

४] गुड़हल (HIBISCUS: जास्वंद) के फूल के औषधीय गुण

गुड़हल के फूलों में भी कई प्रकार के चिकित्सकीय लाभ वाले गुण मौजूद पाए जाते हैं और इनकी मदद से भी कई समस्याओं का निदान संभव हो सकता है।

1) इसमें आयरन, विटामिन ‘बी’, विटामिन ‘सी’, एंटीऑक्सीडेंट आदि उपस्थित पाए जाते हैं और इसीलिए यह रक्त प्रदर,बालों की समस्याओं,सर्दी-जुकाम आदि के उपचार में खास मदद कर सकता है।

इसे सरसों या नारियल के तेल में उबालकर उस तेल को छानकर सिर पर उसकी मालिश करने से सिर की खाल स्वस्थ बनती है तथा उससे संबंधित कई समस्याओं से बचाव होता है। इसके अलावा बाल काले,घने और चमकदार बनते हैं।

५] सूरजमुखी के फूल के औषधीय गुण

सूरजमुखी के फूलों में भी कई ऐसे गुण मौजूद पाए जाते हैं जिनसे रोगों के उपचार में सहायता मिल सकती है।

1) इसके तेल में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो जोड़ों के दर्द तथा सूजन से राहत दे सकते हैं। अतः इसके तेल की मालिश फायदेमंद रहती है।

2) इसका तेल त्वचा के लिए भी असरकारक सिद्ध होता है। इसके इस्तेमाल से त्वचा स्वस्थ और मुलायम बनती है। इसमें मौजूद विटामिन ‘डी’ तथा विटामिन ‘ए’ शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *