इस लेख में कैल्शियम युक्त आहार के ५ महत्वपूर्ण सुझाव पढ़ें

कैल्शियम युक्त आहार

यदि आप कैल्शियम की गोलियों पर अपना जीवन व्यतीत नहीं करना चाहते हैं, तो समय पर इन कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों को खाने पर ध्यान दें।

इस लेख में कैल्शियम युक्त आहार के ५ महत्वपूर्ण सुझाव पढ़ें:

आजकल हम कुछ बुजुर्गों को तकिए के साथ गोलियों का एक डिब्बा ले जाते हुए देखते हैं। मेरा मतलब है भले ही आपको बीपी, डायबिटीज न हो, गोलियों का एक डिब्बा अभी भी है !! इतना ही नहीं, वयस्कता के आगमन के साथ, कई लोग पूरक लेना शुरू कर देते हैं।

खासतौर पर वे लोग जो जीवन भर खाते-पीते रहे हैं, अपने जीवन की शामों में गोलियों पर निर्भर रहते हैं।

क्योंकि आपके शरीर को विटामिनों की बहुत आवश्यकता होती है। यदि आप बचपन से विटामिनों को नियमित रूप से लेते हैं, तो आपको बुढ़ापे में गोलियों पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा।

जीवन के प्रत्येक चरण में, आपके शरीर को सभी विटामिन और कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

कम उम्र में, मानव शरीर में हड्डियां तेजी से बढ़ती हैं और दांत बढ़ते हैं। उन्हें मजबूत बनाने वाला मुख्य घटक कैल्शियम है। खैर, यह सिर्फ उन बच्चों के लिए नहीं है जिन्हें कैल्शियम की जरूरत है।

किशोरों के लिए कैल्शियम का सेवन महत्वपूर्ण है। महिलाओं के शरीर को भी इसकी बहुत जरूरत होती है।

बच्चे के जन्म के बाद कैल्शियम की कमी सभी महिलाओं को प्रभावित करती है।

यदि कैल्शियम का संतुलन बनाए नहीं रखा जाता है, तो न केवल बुढ़ापे में, बल्कि युवाओं में भी हड्डियों और दांतों की समस्याएं होने लगती हैं।

कैल्शियम की कमी से हड्डियों और दांतों की समस्या होती है। यदि बचपन से कैल्शियम की मात्रा सही है, तो आपकी हड्डियां और दांत मजबूत रहेंगे।

जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं, कई बुजुर्गों को अपने दाँत निकालने पड़ते हैं और उनके जबड़े भी अकड़ जाते हैं।

कैल्शियम की कमी से गठिया और ऑस्टियोपोरोसिस हो सकता है। इसलिए, शरीर में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा होना बहुत जरूरी है।

यदि आप एक फिटनेस प्रोग्राम का पालन कर रहे हैं, अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो कैल्शियम एक आवश्यक घटक है।

तो बताने की बात यह है, कि एक दिन में एक भोजन के साथ, यह देखना सबसे जरूरी है कि आपके शरीर को दिन भर में कैल्शियम की आवश्यकता कैसे होती है।

हम आपको इस लेख में कुछ ऐसे स्नैक्स बता रहे हैं जो कैल्शियम में उच्च हैं। आप इनमें से कुछ खाद्य पदार्थों को जान सकते हैं, आप इन्हें ले सकते हैं। लेकिन इसे नियमित रूप से लें:-

1। एक गिलास दूध:

गलत खान-पान के बाद बच्चे आजकल दूध नहीं पीना कहते हैं।

कुछ छोटे बच्चों को दूध बिलकुल भी पसंद नहीं होता है.. यहाँ तक कि बड़े लोग भी एक कप दूध पीने के लिए छींकते हैं.. और छोटे लोग तुरंत उनकी नकल करते हैं।

लेकिन दूध कैल्शियम का अच्छा स्रोत है। आपको दिन में कम से कम एक बार एक गिलास दूध पीना चाहिए।

दूध में न केवल कैल्शियम, बल्कि अन्य विटामिन जैसे पोटेशियम, आयोडीन, फॉस्फोरस और विटामिन B भी होते हैं।

जो लोग शाकाहारी हैं उन्हें कैल्शियम युक्त सोया दूध लेना चाहिए। इसमें कुछ भी मिलाए बिना दूध पीएं। शुद्ध दूध अमृत के समान है इसका स्वाद मीठा होता है।

लेकिन जो लोग दूध का स्वाद पसंद नहीं करते हैं, उनके लिए बाजार में उपलब्ध चीनी या प्रोटीन पाउडर (चम्मच) को जोड़ने में कोई आपत्ति नहीं है।

चाय, कॉफी और अन्य कार्बोनेटेड पेय पीने की तुलना में दूध पीना बेहतर है।

2। दही:

जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, वे दही के महत्व को जरूर जानेंगे।

दही और छाछ उनके आहार का एक हिस्सा है।

जैसे दही फिटनेस के लिए बहुत अच्छी होती है.. वैसे ही कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए भी दही की जरूरत होती है।

नाश्ते के लिए फलों के साथ स्वादिष्ट दही फलों का सलाद बनाइए या भोजन करते समय दही से भरा हुआ कटोरा खाएं आपको इंटरनेट पर बहुत सारे स्वस्थ दही के व्यंजन भी मिलेंगे !

3। फलों का मुरब्बा:

शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे फल पसंद नहीं हैं इसलिए चाय या कॉफी के बजाय फलों को प्राथमिकता दें जो अम्लता बढ़ाते हैं।

संतरा, खुबानी, कीवी बेरीज, पपीता और केले आपको कैल्शियम की सही मात्रा देते हैं।

लेकिन इस सब में अंजीर सही है केवल 100 ग्राम अंजीर आपको 35 ग्राम कैल्शियम देता है।

इसलिए अपने आहार में सीज़न में अंजीर को ज़रूर शामिल करें। जब कोई मौसम न हो तो आप सूखे मेवों से अंजीर खा सकते हैं।

4। पनीर :

सामान्य तौर पर, चाहे आप पनीर को कितना भी पसंद करते हों, पर कुछ लोग पनीर से दूर रहना पसंद करते हैं ताकि वजन न बढ़ सके। लेकिन अगर आप पनीर की सही मात्रा तय करते हैं, तो हर दिन पनीर खाना हानिकारक नहीं है।

नाश्ते में कसा हुआ पनीर, छोटा क्यूब चीज़ या आधा पतला पनीर खाने से पनीर का गिल्ट फ्री सेवन होता है| क्योंकि पनीर एक कैल्शियम युक्त भोजन है।

मोज़ेरेला चीज़ भी एक कैल्शियम का स्त्रोत हैं | हर रोज़ थोड़ी मात्रा में चीज़ खाने से कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ेगा | इसके विपरीत करने से, शरीर में कैल्शियम की कमी होगी !

5। हरी कैल्शियम युक्त पत्तेदार सब्ज़ियाँ:

दुनिया में आधे लोग दूध, दूध से बने उत्पादों और हरी पत्तेदार सब्जियों के नाम पर भी गुस्सा करते हैं।

अगर आप बचपन से सभी खाद्य पदार्थों को खाने के आदी रहे हैं, तो कोई भी चुलबुली नहीं होगी.. इसलिए, सभी माताओं को अपने बच्चों को सभी सब्जियां खाने की आदत डालनी चाहिए! इसके इलावा ‘टोफू’ एक कैल्शियम युक्त आहार है।

दोस्तों, कमेंट्स में बताए, लेख कैसा लगा…. आप हमसे और किन विषयो में सुनना चाहेंगे।और हाँ, अपने दोस्तों में लेख शेअर जरूर करें।

आपकी समस्या के अनुसार एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय जरूर लें।/ The information is not a substitute for professional medical advice, diagnosis, or treatment.

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

2 thoughts on “इस लेख में कैल्शियम युक्त आहार के ५ महत्वपूर्ण सुझाव पढ़ें”

  1. मुद्दाम मराठीत लिहीत आहे. कॅल्शियम विषयी माहिती चांगली दिली आहे, विशेषतः पालेभाज्याची नावे दिलीत तर जास्त चांगले झाले असते. हिंदी फॉन्ट योग्य आहे वाचणं सोईस्कर होतं. विनंती आहे मराठीत सुध्दा मोठा फॉन्ट वापरला तर आमच्या सारख्या वयस्कर वाचकांना व इतरांच्या डोळ्यांवर ताण येणार नाही. मनाचेTalk चा मी मनापासून चाहता आहे, प्रत्येक लेख अभ्यासपूर्ण असतो. प्रत्येक वेळी नवनवीन विषय/( समस्या व समस्येवरील उत्तर) असतात. खूप उपयोगी आहेत. धन्यवाद ! आज संधी मिळाली म्हणून मनातलं लिहिलं.

    1. धन्यवाद, तुमच्या सारखेच मनाचेTalks चे चाहते भारतभर असावेत म्हणून हि सुरुवात. आणि मराठी मध्येही मोठा फॉन्ट करण्याचा आपण प्रयत्न करू. मोठा फॉन्ट आणि वाचण्यास जास्त सोपे जावे अशी सर्व व्यवस्था फेसबुक मध्ये आहे. जमल्यास फेसबुक अकाउंट नक्की उघडा. वेबसाईटवरही जास्त मोठा फॉन्ट करण्याचा आपण प्रयत्न करू.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *