मन से विचारों के बादल हटाकर जीने की कला सिखाने वाले सात सरल मार्ग

मन से विचारों के बादल हटाकर जीवन जीने की कला

कृपया अपनी कुर्सी की पेटी बांध लें, मन के सभी विचारों के जाल को मुक्त करने के बारे में जानने के लिए उड़ान बस शुरू होने वाली है।

प्यारे दोस्तों, हमारा मन एक ऐसा वाहन है, जो आपको घर बैठे पुरे संसार की सैर कराता है। आपको हर उस जगह की सैर करवाता है जो आप सोचते हो, जो आप चाहते हो।

सबकी अपनी अपनी चिंताएं होती है, कभी दुख तो कभी सुख लगा ही रहता है। मन हमारी चिंताओं का बोझ अपने ऊपर ढोता हैं। उदासी और ख़ुशी का रोलर कोस्टर हमारे जीने का अविभाज्य तरीका सा ही हों जाता हैं।

एन्जेल (देवदूत) और शैतान (राक्षस) मन के दो निवासी हैं जो हमें कभी सुंदर विचार देते हैं, तो कभी बुरे विचार| मन कभी थकता नहीं, वह हर दम भ्रमण करता रहता है।

मन ही ऐसी चीज है जिसका काम दिन रात चलता रहता है। इतना की कभी कभी हम उब जाते हैं, क्योंकि मन हमें काम पर रहते हुए भी चैन से बैठने नहीं देता, तो ख़ाली बैठे हो तो ये मन कितनी उथल पुथल मचता होगा ?

इन सभी विचारों का एक बवंडर तैयार होता है, और आप उस बवंडर की गहराई में डूबते जाते है।

इतना ही नहीं, कभी कभी तो इन विचारो का एक बड़ा हांथी बन जाता है, और आप उन विचारों का बोझ सालों तक ढोते रहते हैं।

इन विचारों के बोझ तले आप जब तक दबे रहेंगे तब तक आप असहज स्थिति में रहेंगे। आप अपनी जिंदगी में कभी खुद को शांत या सहज महसूस नहीं कर पाएंगे ।

इसलिए हमें शांत मन से, बुरे सभी विचारों को मन से निकाल देना चाहिए। क्योंकि अगर हमारे मन को ही शांति क्या है…. इसके बारे में पता नहीं हो, तो भला वह शांत कैसे हो सकता है ?

विचार और भावनाएं हमारे मस्तिष्क को कुछ इस प्रकार जकड़ लेती है कि हम मानसिक रूप से विक्षिप्त महसूस करने लगते हैं, या फिर हम नकारात्मक विचारों से ग्रसित हो जाते हैं।

हम अपने मन का मनोरंजन करने की भी कोशिश करते हैं, पर सब बेकार चला जाता है।

क्योंकि हम मन को शांत करने के विचार को नहीं जानते, मन से विचारों के तूफान को हटा कर जीने की कला को नहीं जानते।

इसीलिए इस दिशा में हम कोई प्रयास नहीं कर पाते और अंततः हम हार मान लेते हैं और कई मामलों में हम व्यभिचारों में भी फंस जाते हैं और अपनी कीमती जिंदगी को नशा, भोगविलास की आग में झोंक देते हैं।

लेकिन दोस्तों मन की शांति प्राप्त करना इतना भी मुश्किल नहीं है।

आपको बस इतना करना है, आज हम निम्नलिखित महत्वपूर्ण जादुई युक्तियों के माध्यम से, जिन्हे आप ‘निन्जा टेक्निक’ भी कहे सकते हैं, ताकि ये सब आसान लगे। तो आइये चले,

कृपया अपनी कुर्सी की पेटी को बांध लें, मन के सभी जाल को मुक्त करने के बारे में जानने के लिए, उड़ान बस शुरू होने वाली है।

1 ) क्षमाशील होना और अतीत को भूल जाना

क्या आप जानते हैं कि ‘क्षमा और भूल’ बहुत महत्वपूर्ण मित्र हैं ?

कभी कभी हम बीते हुए घटना को भूल जाते हैं लेकिन जब उसी घटना को याद करते हैं, तो अपने साथ बीते उस बुरे दर्द को स्मरण कर लेते हैं ।

इस घटना के पीछे के अपराधी को भी याद करते हैं परिणाम स्वरुप हमारा मन फिर से बेचैन हो जाता है ..!!!!

आखिर इस बोझ के साथ कब तक जीना चाहेंगे आप ?

जो कुछ हुआ उसे भूलने से पहले आपको क्षमा करना सीखना होगा, आपको क्षमाशील बनना पड़ेगा ।

हालांकि ये बातें आपको अव्यावहारिक लग सकती है लेकिन आप याद रखें कि जो कुछ हुआ उसे भूलने से पहले आपको क्षमा करना सीखना होगा|

क्योंकि अगर हम क्षमा कर सकते हैं तो हम सब कुछ भूल भी सकते हैं ।

और फिर अतीत की वो कड़वी यादें जो मन में उठती है, तथा बदला लेने की भावना स्वतः दूर हो जाएगी ।

और हां, न केवल दूसरों को, बल्कि खुद को भी क्षमा करना सीखें.. हम भी गलतियां करते हैं…. किसी को चोट पहुंचाते हैं ।

क्योंकि कभी कभी एक गिल्ट आपको जो जीवन भर परेशान कर सकता है.. उसके लिए खुद को क्षमा करें ।

अतीत की गलतियां, या दूसरों के कारण खड़ी हुई मुसीबतें, जो आपके मन को चुभ रही हो, ऐसे विचारों को भूल जाना ही बेहतर है ।

हमेशा सुखद अहसास, मीठी यादों को स्मरण करना चाहिए, जो हमारे मन को शांति देगी ।

मनाचेTalks मराठी के पहले के एक लेख में, इसे ‘Forget and Forgive’ के रूप में लिखा गया था जिस पर कई लोगो की टिप्पणियां और संदेश ऐसे आए की, ‘अगर गलती करने वालों को माफ कर दिया जाए, तो वें आगे और भी नई गलतियाँ करने के लिए स्वतंत्र हो जाएंगे’

इसलिए उन्हें माफ करना, जाने देना गलत तरीका है….

लेकिन दोस्तों यह आपके मन को शांति कैसे दे सकता है ?

हालांकि अगर गलतियाँ छोटी है तो गलती करने वाले को समझना और उनसे दूर रहना ही हमेशा बेहतर होता है। लेकिन, अगर गलतियां बड़ी और अन्यायपूर्ण है, तो वो आपके ऊपर निर्भर है कि आप उन गलतियों को कानून के ऊपर छोड़ दें। और खुद उसमेसे परे हो जाए|

2) व्यायाम, नृत्य और ध्यान करें

व्यायाम और ध्यान कई समस्यायों के लिए रामबाण औषधि है।

नृत्य भी आपके मन को शांत करने का एक शानदार तरीका साबित हो सकता हैं। यदि आप नृत्य करना पसंद करते हैं तो आपकी सभी परेशानियां छू मंतर हो जाती है और आप खुश रहने लगते हैं।

क्या आपको पता है आपके शरीर में कुछ एक्यूप्रेशर पॉइंट्स है, जो आपको कई परेशानियों से छुटकारा दिला सकते है। इसकी तकनीक को भी समझें !

एक्यूप्रेशर कई बीमारियों तथा मानसिक विकारों के लिए प्रभावी दवा है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि, अगर एक्यूप्रेशर पॉइंट को सही तरीके से दबाया जाए, तो आपके सारे मानसिक तनाव ख़तम हो जाते हैं।

इस बारे में एक लेख मनाचेTalks मराठी में लिखा जा चूका हैं उसका हिंदी संस्करण यहाँ जल्द ही लिखा जाएगा| तो मनाचेTalks हिंदी पढ़ते रहे और अपने मित्रों को शेअर करना न भूले|

https://www.manachetalks.com/11334/accupressure-points-for-stress-anxity-marathi-health-blog-manachetalks/

3) अच्छे से मुस्कुराओ, हंसो, बात करो

आप हमेशासे सुनते आये होंगे, “लाफ्टर इज द बेस्ट मेडिसिन”…

हंसी से चिकित्सा के साथ साथ मन की शांति प्राप्त करना भी बहुत ही आसान है। हंसते हुए रिश्तेदारों या दोस्तों की संगति में बैठें और मन को हंसी की ठंडक पाने दें।

यदि आप इन्ट्रोवर्ट है, लोगो में ज्यादा घुलने-मिलने की आपकी आदत नहीं है, तो हास्य धारावाहिक, फिल्में देखना…. यहां तक की बच्चो की फिल्में देखना इन बातो से आनंद उठा सकते है|पर विचारों की आंधी को हमेशा अपने दिमाग से दूर रखें।

इन्ट्रोवर्ट लोगो के बारे में भी मनाचेTalks मराठी में एक लेख लिखा गया है जल्द ही उसका हिंदी संस्करण यहाँ लिखा जाएगा|

https://www.manachetalks.com/10170/aualities-of-intrivert-people-marathi-manachetalks/

इसके इलावा आप अपने विचारों को अपने विशेष मित्र या साथी के साथ साझा करना सुनिश्चित करें ।

4) अपने लिए चीजें करें, किसी और के लिए नहीं

हम हर समय दूसरो के लिए जीते हैं। यदि कोई हमारे धैर्य और बलिदान से बेहतर हो जाता है, तो हम इसे एक आशीर्वाद मानते हैं। यही सभी अच्छे लोगो का लक्ष्य और लक्षण भी होता है।

लेकिन यह सब करते हुए आप खुद को कैसे भूल सकते हैं। जिस प्रकार हम दूसरों के प्रति कर्तव्य रखते हैं, उसी प्रकार हमारा खुद के प्रति भी कर्तव्य होना चिहिए, और उसे हम क्यों भूले।

अपने लिए, अपनी खुशी के लिए, आराम से लाइफ को इन्जॉय करें, पीछे मुड़कर मत देखें, मन स्वतः खुश रहेगा।

5) दुर्भाग्यपूर्ण वस्तुओं और अनचाहे रिश्तों से दूर रहें

असंतुष्ट रिश्तों के बंधन, कभी आपके दिमाग को संतुलित होने नहीं देते। अनचाहे रिश्ते आपको हमेशा के लिए दुःख के पिंजरे में रखते हैं।

उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह आपको कितना मानसिक क्षति पहुंचाता है। अगर हमारे जीवन में कोई ऐसा जहरीला रिश्ता है जिनके विचार मन में आते ही हम जीना भूल जाते हैं तो ऐसे रिश्तों को दूर रखना ही बेहतर है।

उस व्यक्ति से छुटकारा पाएं जो आपको मानसिक तौर पर परेशान कर रहा हो।

ऐसी कड़वी यादें देने वाले रिश्तेदारों और वस्तुओं से छुटकारा पाएं.. इसके बजाय मन को आनंद देने वाले लोगो के साथ दोस्ती बढ़ाएं।

6) सपनों को गले लगाओ, शौक का पीछा करो

बुरे विचारो से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है। मन को चैनलाइज करना….

आपके सपने क्या है, आपके हॉबीज क्या है उन बातो पर ग़ौर करे|मन के विचारो को हमेशा इसी मार्ग की तरफ दिशा दें, ताकि आपका खाली समय इसके लिए आवश्यक कौशल सीखने में निवेशित हो।

और बुरे विचारों की आंधी आपके मन में प्रवेश न कर पाए।

7) आभार स्वीकार करें और लोगों की मदद करें

अगर किसी ने आपकी मदद की है, अगर किसी ने आपका भला किया है तो आपको ऐसे व्यक्ति के प्रति आभारी होना चाहिए उनका आभार व्यक्त करना चाहिए।

साथ ही अगर आपकी मदद की जरूरत, किसी को हो तो उसकी भी मदद करनी चाहिए।

जरूरतमंदों की मदद कर हम बहुत ही अच्छा अनुभव कर पाते हैं और मन को शांत कर पाते हैं। यदि कोई व्यक्ति आपके साथ बुरा बर्ताव कर रहा है तो आप भी उनके साथ बुरा बर्ताव मत करें। बल्कि हमें उसके बुरे बर्ताव का कारण समझने की कोशिश करना चाहिए।

यक़ीन माने, हम ये कोई साधु-संत वाली बाते आपसे साँझा नहीं कर रहे है बात बस इतनीसी है, की दूसरों के अजीब व्यवहार के बदले हम भी अगर उनसे बुरा व्यवहार करें तो हमें भी उसका नुक़सान होने की संभावनाए बढ़ जाती है |

आभार व्यक्त करना और मदद करना ये दो चीजें हैं जो मन को संतुष्ट करती है।

ये टिप्स निश्चित रूप हाथी समान विशाल विचारो के बोझ से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करेंगे ।

कुछ अन्य चीजें भी है जो आप कर सकते हैं सकारात्मक लोगो के साथ सकारात्मक सोचने से आपको बुरे विचारो से छुटकारा पाने में भी बहुत मदद मिलेगी।

हर बार परफेक्ट होना महत्वपूर्ण नहीं, महत्वपूर्ण बात यह है कि मन को शांत और खुश कैसे रखें!!

दोस्तों, कमेंट्स में बताए, लेख कैसा लगा…. आप हमसे और किन विषयो में सुनना चाहेंगे।और हाँ, अपने दोस्तों में लेख शेअर जरूर करें।

धन्यवाद।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

1 thought on “मन से विचारों के बादल हटाकर जीने की कला सिखाने वाले सात सरल मार्ग”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *