घर में रखी अजवायन भी आ सकती है घरेलू उपचार के काम, उठाइए लाभ

अजवायन घरेलू उपचार

अजवायन का प्रयोग प्राचीन काल से ही भोजन पकाने तथा औषधीय उपचार में होता रहा है। अजवायन हर किसी के रसोई घर के किसी कोने में रखी मिल जाती है।

दिखने में तो यह एक साधारण-सा घरेलू रसोई मसाला होता है, मगर इसमें मौजूद औषधीय गुण अनेक तरह के स्वास्थ्य लाभ पहुंचाते हैं  और इसके औषधीय या चिकित्सकीय महत्व को बढ़ाते हैं।

आप अपने रसोई घर में सामान्य रूप से उपलब्ध होने वाली इस अजवायन का प्रयोग कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं के निदान हेतु कर सकते हैं।

अजवायन में उपस्थित या निहित कुछ प्रमुख गुण इस प्रकार हैं- पाचन, दीपन, शूलप्रशमन, वातानुलोमन, उदर कृमिनाशक, गर्भाशय उत्तेजक, जीवाणुनाशक, शोथहर, वातकफ शमनआदि।

अजवायन का उपयोग या उपभोग कई तरह की बीमारियों के उपचार में मदद कर सकता है। आइए इसके उपचारात्मक उपयोग के विषय में जानें।

1) रक्तचाप को नियंत्रण में रखता है- अजवायन में कैल्शियम की रोकथाम करने वाले कई घटक, जैसे कि थायमोल आदि पाए जाते हैं।

यह कैल्शियम को ह्रदय की कोशिकाओं में प्रवेश करने से रोकता है और इसके साथ ही रक्त वाहिकाओं के फैलने तथा रक्तचाप को कम करने में भी मदद करता है।

2) बालो के पोषण के लिए जरुरी- अजवायन का सेवन बालों को पोषण देने तथा उनको कई तरह की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है।

बालों को घने व काले बने रहने के लिए कैल्शियम तथा आयरन की जरूरत होती है और शरीर में इनका अभाव होने से बाल सफ़ेद होने लगते हैं।

अजवायन में कैल्शियम और आयरन अच्छी मात्रा में मौजूद होता है और इसी कारण इसका सेवन बालों के सफ़ेद होने की रोकथाम में मदद करता है।

3) मोटापा कम करने में मददतगार – अजवायन आपके शरीर के मोटापे या वज़न को कम करने में भी मदद करती है। इसमें ऐसे तत्व निहित पाए जाते हैं जो उदर की सफाई में योगदान देते हैं।

इसके साथ ही इसके उपभोग से शरीर में जमा टोक्सिन या विषैले अपशिष्ट शरीर से मुक्त होते हैं जिस कारण उपापचय में अपेक्षित सुधार आता है।

भोजन ढंग से पचता है तथा शरीर में टोक्सिन का जमाव नहीं हो पाता जिसके कारण मोटापा या शरीर का वज़न स्वतः ही कम होता जाता है।

4) शरीर के बाहरी उपचार ने फायदेमंद – अजवायन का उपयोग शरीर के बाह्य उपचार के लिए भी किया जा सकता है। अजवायन या कैरम सीड्स में मौजूद थायमोल शरीर के बाहरी उपचार के लिए काफी फायदेमंद होता है।

यह चोट या घाव आदि पर रोगाणुओं की रोकथाम करके उनके जल्दी से भरने या ठीक होने में मदद करता है।

5)  दातो को स्वस्थ रखता है- अजवायन का इस्तेमाल आप अपने दांतों को नीरोग या स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी कर सकते हैं।

इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण दांतों को स्वस्थ या सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं तथा उन्हें कई रोगों से भी बचाते हैं।

6) आर्थ्राइटिस के दर्द में फायदेमंद – अजवायन आर्थ्राइटिस के दर्द को कम करने में भी अपना चमत्कार दिखा सकती है, क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद पाए जाते हैं जो आर्थ्राइटिस के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

यह त्वचा की लालिमा का इलाज भी कर सकती है।

7) पेट से जुडी समस्याओ का इलाज – अजवायन पेट से जुड़ी कई समस्याओं, जैसे कि अफारा, डायरिया, उलटी, अपच आदि के इलाज के लिए रामबाण औषधि सिद्ध होती है, क्योंकि इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद पाए जाते हैं। अतः अजवायन के सेवन की आदत बना लीजिए।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *