खुद को औरों से बेहतर कैसे बनाएं, जानिए कुछ Unique Tips

खुद को औरों से बेहतर कैसे बनाएं जानिए कुछ Unique Tips

आदमी उम्र भर इसी कोशिश में लगा रहता है कि औरों से बेहतर जीवन जी सके।

वह खुद को और अपने परिवार को दूसरों की तुलना में ज्यादा सुखी और खुशहाल बना सके।

कई आदमी तो इस काम में अपना पूरा दम लगाकर भी सफल नहीं हो पाते मगर कुछ बिना खास दम लगाए ही बहुत कुछ हासिल कर लेते हैं।

और खुद को औरों से बेहतर जीवनयापन के योग्य बना लेते हैं।

आखिर यह चमत्कार होता कैसे है?

क्या ऐसा व्यक्ति औरों से ज्यादा मेहनत करता है, या फिर उसे कोई जादू-टोना करना आता है जिसके बल पर वह औरों की अपेक्षा ज्यादा उन्नति कर पाता है।

सच्चाई यह है कि न तो वह व्यक्ति कोई जादू-टोना जानता है, तथा न ही औरों से ज्यादा मेहनत करता है।

बस वह कुछ ऐसे गुणों का धनी होता है, जो उसे औरों से बेहतर बनाते हैं या उसमें ऐसी खूबियां पैदा कर देते हैं जो कदम-कदम पर उसकी सफलता या समृद्धि में सहायक बनती हैं।

अगर हम में से हर आदमी उन खूबियों को अपने अंदर पैदा कर ले, तो निश्चय ही उस आदमी की भांति मनचाही सफलता या समृद्धि प्राप्त कर सकता है।

आइए खुद को औरों से बेहतर बनाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपायों के बारे में जानें।

१) खुद को तनाव एवं चिंता से मुक्त रखिए

हम अपने आसपास अनेक ऐसे लोगों को देखते हैं जो अनावश्यक रूप से तनाव या चिंता से घिरे रहते हैं।

वे बिना किसी खास वजह के खामखाह तनाव या चिंता में पड़ना अपनी आदत बना लेते हैं और अपनी इसी आदत के कारण अपने कार्य और कार्यक्षमता दोनों में ही पिछड़ जाते हैं।

ऐसे लोग समय तथा संघर्ष में उपयुक्त तालमेल न बैठा पाने के कारण अक्सर कष्ट में देखे जाते हैं और कामयाबी की योग्यता होने के बावजूद कामयाब नहीं हो पाते।

इसीलिए खुद को तनाव एवं चिंता से मुक्त रखने का दृढ़ निश्चय कीजिए।

इस काम में आपके खुद के प्रयास ज्यादा प्रभावशाली साबित होंगे।

आप खुद को औरों से हटकर देखिए और हमेशा सकारात्मक सोचने का दृढ़ निश्चय कीजिए।

अगर आप ऐसा करेंगे तो खुद को तो तनाव एवं चिंता से परे पाएंगे ही साथ ही और लोग भी आपसे प्रसन्न व ऊर्जावान रहने की सीख ले पाएंगे।

२) कौन क्या कहेगा की प्रवृत्ति को छोड़िए

‘कौन क्या कहेगा’ की प्रवृत्ति के कारण बहुत से आदमी चाह कर भी औरों से बेहतर नहीं बन पाते और न ही जीवन में मनचाही उन्नति ही कर पाते।

क्योंकि उनकी यह सोच उन्हें झूठी पारिवारिक एवं सामाजिक प्रतिष्ठा के एक ऐसे जाल में फांस कर रखती है जिससे निकल कर वे साधारण काम करना अपनी शान के खिलाफ समझने लगते हैं।

काम को छोटा-बड़ा समझने की सोच से आजाद नहीं हो पाते और कभी-कभी अपनी इसी धारणा के कारण जीवन भर कष्ट उठाते हैं।

अतः इस तरह की सोच या प्रवृत्ति से खुद को मुक्त रखकर किसी भी काम को छोटा या बड़ा मत समझिए।

समय एवं परिस्थितियों के अनुसार जो भी काम करना पड़े उसे करने के लिए तैयार रहिए।

‘लोग क्या कहेंगे’ की बात सोचकर किसी काम की उपेक्षा मत कीजिए।

जिस काम से आपका, आपके परिवार और समाज का भला होता हो उसे पूरे उत्साह से कीजिए फिर चाहे कोई कुछ भी कहता रहे बिलकुल भी परवाह मत कीजिए।

३) नकल की प्रवृत्ति को अलविदा बोलिए

ज्यादातर लोगों की आदत यह होती है कि वे दूसरों की देखादेखी काम करते हैं या अपनी जीवन-शैली को दूसरों से प्रभावित होकर निश्चित करते हैं और सदैव अपनी तुलना दूसरों से करके ही जीवन जीते हैं।

इस कारण व्यक्ति अपने ढंग से जीने और अपने में खुश रहकर खुलकर उन्नति करने का अवसर कभी नहीं पाता।

वह अपना सारा जीवन दूसरों पर नजर रखने या दूसरों के बारे में सोचने या खुद की तुलना दूसरों से करते रहने में ही निकाल देता है।

इसीलिए अगर आपकी भी यही आदत है तो इसे अभी से ही छोड़ने का प्रयास कीजिए।

हमेशा इस बात का ध्यान रखिए कि इस संसार में हर व्यक्ति का अपना जीवन-दायरा या लाइफ जोन होता है और व्यक्ति उसी में सबसे अधिक खुश और समृद्ध रह सकता है।

दूसरों से खुद की तुलना या खुद को दूसरों जैसा बनाने की चेष्टा हमेशा दुख का कारण बनती है।

मगर दूसरों के अच्छे कार्यों या विचारों से सीख या प्रेरणा लेना बुरा नहीं है।

४) हर तरह के वातावरण का आदी बनिए

जीवन मौसम की तरह होता है जो पल-प्रतिपल बदलता रहता है और व्यक्ति में जीवन के बदलते वातावरण का सामना करने की पूरी सामर्थ्य होनी चाहिए।

व्यक्ति का स्वभाव या उसकी प्रकृति ऐसी होनी चाहिए कि वह हर वातावरण या परिस्थितियों के खुद को सरलता से अनुकूल बना ले और खुद को खुश रखकर अपने सामान्य व्यवहार और अपनी कार्यक्षमता को बरकरार रख सके।

अगर व्यक्ति ऐसा करने में सक्षम होता है तो वह वास्तव में औरों से बेहतर उन्नति कर सकता है।

इसके लिए व्यक्ति को अपने अंदर धैर्य,सहनशीलता और दृढ़ता जैसे गुणों को पैदा करना चाहिए।

खुद को हीन या औरों से कम या कमजोर कभी नहीं समझना चाहिए।

व्यक्ति अपने अभ्यास और प्रयास के बल पर इन गुणों को आसानी से प्राप्त कर सकता है।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

1 thought on “खुद को औरों से बेहतर कैसे बनाएं, जानिए कुछ Unique Tips”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *