गर्दन और कमर दर्द से छुटकारा पाने के 6 रामबाण उपाय

gardan dard ka ilaj

गर्दन और कमर दर्द से छुटकारा पाने के 6 चमत्कारी उपाय

6 MAGICAL REMEDIES TO GET RID OF NECK AND BACK PAIN

दोस्तों आज के इस आधुनिक जीवनशैली में काम करने क तरीका भी बदल गया है। प्राचीन समय में लोगों का शारीरिक परिश्रम अधिक होता था। लोग एक जगह से दूसरे जगह भागदौड़ करके कार्य किया करते थे।जिस कारण शरीर के सभी अंगों में समान रूप से ब्लड सर्कुलेशन होता था। 

आज का समय एक वैज्ञानिक युग का है, जहाँ ज्यादातर काम एक जगह बैठके कम्प्यूटर या लैपटॉप के माध्यम से ही हो जाता है। एक स्थान पर बैठ कर घंटों काम करने के कारण शरीर को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गर्दन दर्द, पीठ दर्द, सर्वाइकल अकड़न, माँस पेशियों में तनाव आदि बहुत सी समस्या होती हैं, जो प्रारम्भ में तो कम ही रहती हैं परन्तु कुछ समय के बाद ये विकराल रुप भी ले सकती है। 

इसलिये इन असहनीय दर्द से छुटकारा पाने के लिये हमें अपने जीवन के कार्य शैली में थोड़ा बदलाव करना पड़ेगा। कुछ नियमों का पालन करना होगा और कुछ बाते ध्यान रखनी होगी। 

आइए अब हम जानते है की पीठ दर्द और गर्दन दर्द को खतम करने के लिए कौन-कौन सी चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए 

१. योगा और व्यायाम करें (Do yoga & exercises)

आजकल के हेक्टिक शेड्यूल में योगा या एक्सरसाइज को हमें अपने जीवन का एक पार्ट बनाना ही चाहिए। खासकर तब जब हम किसी शारीरिक दिक्कत से गुजर रहे हो।

  • पीठ या गर्दन दर्द के लिए काफी सारे योगा आसन और एक्सरसाइज होते है जिन्हें डेली फॉलो करने से हमारी दिक्कतें काफी हद तक कम हो सकती है।
  • कुछ एक्सरसाइज तो गर्दन की इतनी आसान होती ही कि आप कहीं भी कर सकते हैं ,कुछ दिन करने के बाद ही आपको इसका रिजल्ट दिखने लगेगा।
  • इसलिए डॉक्टर के पास से दवा या महंगा इलाज करवाने से बेहतर होता है घर बैठे थोड़ा टाइम अपने बॉडी के लिए देना और रेगूलर एक्सरसाइज करना।

२. अपने वज़न पर कंट्रोल रखें (Keep Control On Your Weight)

पीठ और गर्दन का एक और मुख्य कारण है वज़न। वज़न अधिक होने के कारण भी पीठ दर्द और गर्दन दर्द बना रहता है। इसलिए आपको अपने वजन पर ज़रूर ध्यान देना चाहिए और हमेशा उसे कंट्रोल में ही रखना चाहिए। 

  • अधिक वजन से शरीर में काफी दर्द बना रहता है तथा अनेक बीमारियां घर कर लेती हैं।
  •  इसलिए आपको अपना वजन रेगूलर चेक करते रहना चाहिए।

३. हर 25-25मिनट के अंतराल में उठें (Get Up In The Interval Of Every 25-30 Minutes)

  • लंबे समय तक एक ही पोजिशन में बैठे रहने से हमारे मसल्स पर तनाव पड़ता है जिसे अगर अकसर करा जाए तो ये दर्द का रूप ले लेते हैं।
  • इसलिए हर आधे घंटे के अंतराल में चलना या खड़े होना चाहिए और पोजिशन बदलनी चाहिए जिससे कि मसल्स रिलैक्स रहे और हमारी रीढ़ की हड्डी पर ज़्यादा प्रेशर ना पड़े।

४. सही पोस्चर में सोए (Sleep Well In Correct Posture) 

आपके सोने का तरीके भी एक रीज़न होता है आपके पीठ या गर्दन दर्द का।

  • आप अच्छे डॉक्टर से सलाह ले सकते है की आपको किस पोस्चर में सोना चाहिए जिससे की आपका दर्द और न बढ़े ।
  • डॉक्टर आपको सोने का सही पोस्चर बताएंगे जिसे आप अगर फॉलो करेंगे तो आपका दर्द धीरे धीरे चला जाएगा।
  • आपको ये भी देखना होगा कि जिस गद्दे पर आप सो रहें है,वो सही है कि नहीं। आमतौर पर फोम वाले गद्दे पर लेटने के कारण भी पीठ और गर्दन दर्द की दिक्कतें होती है। इसलिए रूई का गद्दा यूज करना ज़्यादा सही माना जाता है।
  • आपको ये भी ध्यान देना होगा कि आपका तकिया ज़्यादा ऊंचा ना हो और ना ही ज़्यादा हार्ड हो।

५. अपनी कुर्सी पर रखे ध्यान (Check The Posture Of Your Chair) 

  • अगर आप दिन का सबसे ज़्यादा टाइम ऑफिस में बिताते है तो आपको अपनी कुर्सी पर भी ध्यान देना होगा।
  • कुर्सी की लम्बाई और चौड़ाई कैसी है उसी पर आपका बैठना निर्भर करता है
  • सीधा पोस्चर ही आपके पीठ दर्द और गर्दन दर्द से राहत देगा। यदि आपकी कुर्सी झुकी हुई है या छोटी है तो आप उसे बदल ले, वो आपके लिए और भी ज्यादा हानिकारक होगा।
  • आरामदायक कुर्सी यूज करें जिसमे आपके दोनों पैर एकदम सीधे रहे और आपके घुटने और टखने दोनों एक सीध में हो।

 ६. लैपटॉप को डेस्कटॉप कि तरह यूज करें (Use Laptop As A Desktop)

हमारे कंफर्ट के लिए नए नए तकनीकी खोज तो होते है लेकिन ये सब चीज़े आराम के और सुविधा के साथ साथ बीमारियां भी देते हैं।

  • लैपटॉप का यूज आजकल बोहोत आम हो चुका है क्योंकि मेनली आजकल हर काम में ही लैपटॉप का यूज हो रहा है।
  • इसी वजह से बहुत से लोग कहीं भी कैसे भी पोस्चर में लैपटॉप पर घंटों काम भी करते हैं।
  • इसी पोस्चर के कारण पीठ और गर्दन दर्द को दिक्कतें हो रही है ।
  • अगर आपको लैपटॉप का अधिक इस्तेमाल रहता है तो आप लैपटॉप की एक जगह फिक्स कर सकते है। उसके लिए एक डेस्क तैयार कर सकते है जिसपर आप अपना लैपटॉप,माउस, कीबोर्ड सब रख सकते है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आजकल के इस वैज्ञानिक युग में कंप्यूटर और लैपटॉप से काम करना एक नॉर्मल बात है और अधिक्तर लोग ऐसे ही काम करते हैं। इस कारण एक ही जगह एक ही स्थिति में बैठ कर कार्य करने से बहुत सी परेशानियां शुरु हो जाती हैं। जैसे पीठ दर्द, गर्दन में अकड़न, सर्वाईकल आदि। 

 दोस्तों कार्य तो करना ही है लेकिन यदि कुछ बातों को ध्यान देते हुए अपनी आदतों में थोड़ा बदलाव करके काम किया जाये तो बहुत हद तक इन सब परेशानियों से बचा जा सकता है। 

आशा है कि ऊपर दिए गए कुछ छोटे स्टेप्स को अपनी लाइफ का हिस्सा बनाएंगे तो गर्दन और पीठ दर्द जैसी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *