क्या पुरुषों को भी होता है ब्रेस्ट कैंसर? जानें कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

Male Breast Cancer Causes Symtoms and Treatments in Hindi

मेल ब्रेस्ट कैंसर क्या है : लक्षण, कारण और इलाज [Male Breast Cancer Causes, Symtoms and Treatments in Hindi]

ब्रेस्ट कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसे आमतौर पर महिलाओं से जोड़कर देखा जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस बीमारी का शिकार अधिकांशता औरतें ही होती हैं।

हालांकि यह बात पूरी तरह से सच नहीं है। ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं के साथ ही पुरुषों के लिए भी एक घातक बीमारी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में हर सौ में से जितने लोगों का breast cancer बीमारी के लिए इलाज किया जाता है उनमें से करीब 1 percent cases मेल ब्रेस्ट कैंसर के होते हैं।

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी [ACS] की मानें तो हर 833 लोगों से 1 पुरुष में जीवन में कम से कम एक बार male breast cancer पनपने का खतरा होता है।

किसी भी प्रकार के अन्य कैंसर के जैसे ही अगर मेल ब्रेस्ट कैंसर का इलाज भी इसकी early stages में कर दिया जाए तो patient के जीने के chances काफी अधिक मात्रा में बढ़ जाते हैं। बाद के stages में चांस बहुत कम हो जाते हैं।

फीमैल कैंसर के बारे में महिलाएं आमतौर पर वाकिफ होती हैं मगर पुरुषों के साथ ऐसा नहीं हो। हालांकि पुरुष के ब्रेस्ट कैंसर का पता लगाना महिलाओं के ब्रेस्ट कैंसर से अधिक आसान होता है। मगर ऐसा कम ही हो पाता है क्योंकि ज्यादातर पुरुष इसके मामले में जागरूक नहीं होते हैं।

पुरुष का ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं की तुलना में अधिक खतरनाक साबित हो सकता है क्योंकि महिलाओं में ब्रेस्ट का एरिया बड़ा होने के कारन शरीर के अन्य tissues में कैंसर काफी देर में स्प्रेड होता है जबकि पुरुषों के केस में यह बहुत अधिक जल्दी फैलता है।

करीब 40 प्रतिशत पुरुषों को ब्रेस्ट कैंसर के बारे में 3 से 4 stage में पता चलता है तबतक यह कैंसर भीषण स्थिति में पहुँच चुका होता है और बचने के chances काफी कम हो जाते हैं।

इस कैंसर को लेकर जागरूकता काफी जरूरी है। चलिए जानते हैं कि इसके लक्षण यानि symptoms किस तरह के होते हैं

1. मेल ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण [MALE BREAST CANCER SYMPTOMS IN HINDI]

पुरुषों के स्तन कैंसर के कुछ संभावी लक्षण इस परकार के हो सकते हैं

  • एक स्तन में गांठ [lump], जिसमें अक्सर दर्द नहीं होता।
  • स्तन यानि breast में अल्सर यानि छाले पड़ना, या फिर निपल थुलथूले हो जाना, या फिर उनसे कुछ liquid discharge होना।
  • स्किन पर झुरीया यानि wrinkles पड़ना और breast पर dimples बनना।
  • nipple या breast की स्किन का कलर change होना।

जब cancer बढ़ता है तो ये symptoms भी देखने को मिल सकते हैं-

  • अन्डरआर्म में lympth node में सूजन्न आना।
  • ब्रेस्ट में दर्द होना।
  • हड्डियाँ दर्द करना।
2. पुरुष के स्तन कैंसर में बचने की संभावना [MALE BREAST CANCER SURVIVAL RATE]

पुरुषोंमें ब्रेस्ट कैंसर जल्दी से स्तन के द्वारा शरीर के दूसरे हिस्सों तक पहुँच जाता है। अमेरिकन कैंसर सोसाइटी [ACS] के मुताबिक इस कैंसर के इलाज के बाद पुरुष 5 साल या उससे ज्यादा जिए इस बात की संभावनाएँ इस प्रकार है

  • जब कैंसर सिर्फ breast तक ही फैला होता है इस केस में इलाज करने के बाद बचने की संभावना 97 प्रतिशत तक होती है।
  • जब कैंसर ब्रेस्ट और इसके आसपास के थोड़े से हिस्से में फैला होता है तब बचने की संभावना करीब 83 प्रतिशत होती है।
  • कैंसर जब शरीर के ज्यादातर हिस्से में पहुँच गया होता है तो बचने के chances करीब 22 प्रतिशत होते हैं।

मेल breast cancer में जरूरी है कि early stages में ही इसे पकड़ लिया जाए। ऊपर दिए गए आँकड़े पुराने हैं और पिछले कुछ सालों में तकनीक में काफी सुधार आया है जिससे survival rate काफी बेहतर हुआ है।

3. मेल ब्रेस्ट कैंसर टेस्ट्स [MALE BREAST CANCER TESTS AND DIAGNOSIS]

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण थोड़े भी खुद में दिखते हैं तो जाके निम्नलिखित टेस्ट जरूर करवाएँ

  • a mammogram
  • an ultrasound
  • a nipple discharge test
  • a biopsy

इसके बाद डॉक्टर जिस तरह से इलाज की सलाह देते है उसका सख्ती से पालन करें।

RISK FACTORS

क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम वाले पुरुषों में स्तन कैंसर का 20-60 गुना अधिक खतरा होता है।

नीचे लिखी हुई चीजें पुरुषों में स्तन कैंसर के खतरे को बढ़ाने का काम करती हैं।

  • liver disease
  • an undescended testicle
  • mumps during adulthood
  • gynecomastia, or excessive developmentTrusted Source of the male breasts
  • diabetes
  • thyroid conditions
  • obesity
स्तन कैंसर से बचाव के उपाय [PRVENTION TIPS]

कैंसर को शुरू में ही पहचान लेना इसे फैलने से रोकने में मदद करता है।

यदि परिवार में पुरुष स्तन कैंसर की हिस्ट्री है, तो व्यक्ति को नियमित रूप से स्तन की जांच करवानी चाहिए और कुछ दिक्कत होने पर जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

शराब का कम सेवन, पर्याप्त व्यायाम और ठीक-ठाक वजन रखना, स्तन कैंसर से सर्वोत्तम बचाव है।

CONCLUSION

पुरुषों में ब्रेस्ट कैंसर काफी rare बात है जिस वजह से इसे पहचान पाना अक्सर काफी मुश्किल होता है। हालांकि symptoms दिखने पर उन्हें ignore ना करें और डॉक्टर से जांच कराएँ व उचित सलाह जरूर लें।

आपकी समस्या के अनुसार एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय जरूर लें।/ The information is not a substitute for professional medical advice, diagnosis, or treatment.

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *