ऐसी 10 आदतें जो एक खुशहाल जीवन जीने के लिए बिल्कुल नहीं होनी चाहिए

hindi motivational quotes hindi motivational article

आपने बहुत से लेख पढ़े होगें की आपको खुशहाल जीवन के लिए क्या चाहिए लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि एक खुशहाल जीवन में आपको क्या नहीं चाहिए।

ऐसी 10 आदतें जो एक खुशहाल जीवन जीने के लिए बिल्कुल नहीं होनी चाहिए।

“खुशियों को हां कहने का मतलब है, उन इच्छाओं को ना कहना सीखना जो आपको थका देती है।”

“Big No” उन इच्छाओं को जिन्हें पूरा करते-करते आप थक जाते है।

खुश होने के लिए एक व्यक्ति को केवल तीन चीजों की आवश्यकता होती है।

i) प्यार

ii) काम

iii) उम्मीद

1) प्यार

प्यार सबसे खुबसूरत एहसास होता है। हर एक व्यक्ति के जीवन में कोई ऐसा होना चाहिए जो आपसे प्यार करता हो, जिससे आप प्यार करते हो।

आप जिससे प्यार करते है बदले में उसका प्यार पाना आज सबसे बड़ी दौलत है। क्योंकि आज प्यार हर मोड पर बदल जाता है।

2) का_म

हर किसी का अपना मनचाहा काम होना चाहिए जो आपकी पहचान होता है। जिसके कारण आपको आपकी काबिलियत से जाना जाता है। कुछ कर गुजरने का जुनून ही सफलता दिलाता है।

3) उम्मीद

हमें उम्मीद का दामन कभी नहीं छोड़ना चाहिए। मन के किसी कोने में जगी एक उम्मीद आपको बड़े से बड़ा कार्य करने की हिम्मत देती है।

इन सच्ची खुशियों को छोड़कर आज हम उन चीजों के पीछे भाग रहे है जिसने हमारी जिंदगी को मुश्किल कर दिया है। हम उन चीजों में खुशी ढूंढ रहे हैं जिनका हकीकत में खुशियों से कोई नाता है ही नहीं।

आइए आपको उन लोगों से मिलाते हैं जिन्होंने सच्ची खुशियों को पहचाना है।

एक परिवार जिनका घर एक दिन पहले जलकर राख हो गया था लेकिन आज वो ठहाके लगाकर जिंदादिली से हंस रहे थे क्योंकि उन्होंने घर से सुरक्षित निकलना अपना सौभाग्य समझा। सच्ची खुशियों को पहचाना। इस अनमोल जिंदगी की कीमत को समझा। घर तो दोबारा बन जाएगा लेकिन अगर घर के सदस्य को कुछ हो जाता तो वो दोबारा नहीं मिलते।

आमतौर पर ऐसी स्थिति में लोग कहते हैं कि उन्होंने सब कुछ खो दिया है, रोते है, चिल्लाते है।

लेकिन इस परिवार ने जाना, जो हो गया है उसे बदला नहीं जा सकता। यह समय भी बीत जाएगा। हम सब साथ है, सुरक्षित है, इसके लिए हमें आभार व्यक्त करना चाहिए।

तो आगे बताई गई आदतों पर विचार करें और उन्हें रोके, जो आज सामान्य जीवन में लोकप्रिय है लेकिन हमें खुशियां देने की बजाय, हमारी परेशानी ही बढ़ाती है।

ऐसी 10 आदतें जो एक खुशहाल जीवन जीने के लिए बिल्कुल नहीं होनी चाहिए।

जोर से बोलिए, खुश होने के लिए, मुझे जरूरत नहीं है……

१) सभी को खुश रखने की कोशिश करते रहने की,

दिवंगत और महान हर्बर्ट बायर्ड स्वोप ने कहा था, “मैं सफलता की कुंजी नहीं जानता, लेकिन असफलता की कुंजी हर किसी को खुश करने की कोशिश है”।

आज आप चाहे कितनी भी कोशिश कर ले लेकिन फिर भी किसी ना किसी को कोई ना कोई शिकायत रह ही जाती है।

२) सब कुछ आसानी से पाने की,

आसानी से होने वाले कार्य तो कोई भी कर सकता है। कभी कुछ ऐसे कार्य करके देखिए जिन्हें कोई और नहीं कर रहा हो। जो चीजें आपको डराती है। वो कार्य जो दूसरे आपके लिए नहीं कर सकते।

यकीन मानिए, कभी ऐसा कुछ करके देखिए, खुशी ना मिले तो कहना। ये वो चीजें है जो सामान्य जीवन और खुशी और सफलता से भरे जीवन के बीच अंतर करती है।

३) निश्चितता और गारंटी की,

आज पल भर में कुछ भी बदलते देर नहीं लगती। इसलिए खुद को खोलिए, खुश होने का कोई भी मौका मत छोड़िए, सपने देखिए, उन पर भरोसा कीजिए, साहस और आशावादी सोच के साथ अपने सपनों को पूरा करने के लिए भागिए।

अपने पैरों को जमीन पर, सिर को आसमान में रखते हुए पूरे जोश और उत्साह के साथ आगे बढ़िए। आपका हर एक कदम आपके आसपास के लोगों में भी हौसला बढ़ाएगा।

४) हमेशा दूसरों से बेहतर होने की,

जब हम खुद को बेहतर बनाने की बजाए, दूसरों से बेहतर होने की दौड़ में शामिल हो जाते है तो हम बेवजह खुद को परेशान कर रहे होते है। प्रतिस्पर्धा केवल खुद से कीजिए दूसरों से नहीं।

५) हर बात पे, हर चीज पे अधिक नियंत्रण पाने की,

अपने जीवन के हर पहलू को, अपने आसपास की हर चीज को नियंत्रित करने की कोशिश छोड़िए। खुद को लचीला बनाइए और जीवन के हर मोड़ का खुले दिल से स्वागत कीजिए। अप्रत्याशित आश्चर्य (Surprises) हम सभी को खुशी देते है।

६) क्षणिक खुशी की,

खुशी दिखावे के लिए भव्य शादियां, महंगी खरीदारी, खर्चीली छुट्टियां मनाना आदि में हैं, या उगते सूरज को देखना, सुकून के पल बिताना, अपने बच्चे को हंसता खेलता देखकर खुश होना। अब यह आपको तय करना है की सच्ची खुशी किस में है।

७) दुसरो राय से की सुख या दुःख, सफलता या असफलता नापने की

खुद से प्यार और खुद का सम्मान करना सीखें। जब तक आप अपनी इज्जत नहीं करेंगे तब तक सामने वाला भी नहीं करेगा। जब तक आप गलत नहीं है तब तक दूसरा आपके बारे में क्या सोचता है यह आपकी परेशानी नहीं है।

८) रिश्तो में समझौते की,

रिश्ते बहुत जरूरी है पर तभी जब वो इमानदार हो। रिश्ते तभी पनपते है जब दोनों तरफ से निभाए जाए। उन्हीं रिश्तो से खुशी मिलती है जिनमें समझौते नहीं बल्कि प्यार और व्यवहार की आजादी हो।

९) जीवन में केवल बेहतर समय की,

आप ना तो भविष्य को रोक सकते है और ना ही अतीत को वापस ला सकते है, इसलिए हमेशा बेहतर समय के लिए इंतजार ना करें। अतीत की सरहाना करें। वर्तमान में मिल रहे खुशियों के पलों को जिएं और पूरे आत्मविश्वास के साथ भविष्य का सामना करें।

आने वाले हर पल को बेहतर करने की कोशिश आपको ही करनी हैं।

१०) जिंदगी में 24/7 बीस खुशियां ही पाने की 

आज के इस दौर में खुशियां बड़ी मुश्किल से मिलती है, साहब। अच्छा-बुरा समय सबका आता है। सकारात्मक (Positive) रहे, विश्वास रखें और मिल रही खुशियों को जी भर के जिएं।

जीवन को पल-पल जीते हुए, शिकायतों को कम करके, छोटी-छोटी चीजों के लिए आभारी रहकर, खुशियों के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करते रहे।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *