सरकारी सब्सिडी लेके कर सकते हैं ये बिजनेस, लाखों रुपये महीने की होगी कमाई

dairy business in india

डेयरी बिज़नेस (Dairy Business).. एक प्रचलित उद्योग जिसकी डिमांड दिनों-दिन बढ़ती जा रही है।

आज हर दूसरा व्यक्ति उद्यमी बनना चाहता है। कुछ प्रमुख कारक जिनके कारण उद्योगों को वर्तमान में काफी प्रोत्साहन मिला है।

१) कोरोना के कारण नौकरी का जाना।

२) शहर छोड़कर गांव में वापस आना।

३) महिलाओं का सशक्तिकरण।

४) कम बजट में बेहतर मुनाफा।

५) अपने बिजनेस की चाह।

६) अपना बॉस खुद ही होना (किसी के अंडर कार्य न करना)।

७) नौकरी में अनुकूल परिस्थितियों का ना होना।

८) नए बिजनेस में घाटे की आशंका से अधिक निवेश ना करना।

कोरोना काल में कई बिजनेस पर बुरा असर पड़ा है, लेकिन दूध और दूध से बने प्रोडक्ट की मांग में कोई कमी नही आई है। बल्कि सेहत के प्रति जागरूकता ने इस बिजनेस को बढ़ावा ही दिया है, क्योंकि दूध को एक कंपलीट फूड माना जाता है। यह आपके शरीर को एनर्जी देता है, आपकी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, आपको बीमारियों से बचाता है। आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्व जैसे विटामिन और मिनरल्स की कमी को पूरा करता है।

जानिए, गाय का दूध पीने के सेहत के लिए फायदे

दूध एक ऐसा खाद्य-पेय पदार्थ है जिसकी जरूरत नवजात शिशु से लेकर बड़े बुजुर्गों तक सबको होती है। इसलिए इसकी डिमांड कभी कम हो ही नहीं सकती। गांव हो या शहर हर कोई बिना मिलावट का शुद्ध दूध चाहता है। इसलिए डेयरी बिज़नेस कभी भी घाटे का बिजनेस नहीं होगा।

किसान अब खेती के साथ-साथ श्वेत क्रांति में भी योगदान दे रहे है। कई गांवों में किसान दूध की आय के साथ-साथ गोबर के रूप में देसी खाद से भी मुनाफा कमा रहे हैं।

सिर्फ किसान ही नहीं, शहरों में भी डेयरी बिजनेस आप शुरू कर सकतें हैं। अगर आप व्यक्तिगत उद्यमी, गैर-सरकारी संगठन, कंपनि, असंगठित और संगठित क्षेत्र समूह से हैं या किसी नए काम की तलाश में है। तो ये आपके लिए एक सुनहरा मौका साबित हो सकता हैं। आज लोग खुद भी दुग्धारू पशु (गाय और भैंस) को पालने के लिए बहुत इच्छुक है। इसका धार्मिक और व्यवसायिक दोनों रूप से महत्व है। हिंदू धर्म में गौ सेवा सर्वोत्तम सेवा मानी गई है। और दूध और दूध से बने प्रोडक्टस की बढ़ती मांग आपके व्यवसाय को सफल बनाती है।

अगर आप भी कम बजट में अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो हम आपको ऐसा आइडिया दे रहे हैं जिसमें घर बैठे आराम से लाखों रुपये की कमाई होगी।

डेयरी बिज़नेस : बेसिक आवश्यकता

1) दो गाय और भैंस।

2) पशु पालने के लिए एक व्यक्ति।

3) पशु रखने के लिए जगह।

सरकार पशुपालन को काफी बढ़ावा दे रही है।

केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा जारी स्कीम DEDS – डेयरी इंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट स्कीम (Dairy Entrepreneurship development Scheme)

इस योजना के तहत 10 भैंस की डेयरी खोलने पर 7 लाख रुपए तक का लोन पशुधन विभाग के जरिए दिया जाता है।

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड – NABARD) द्वारा कर्ज में छूटदेने का प्रावधान हैं।

कुल प्रोजेक्ट लागत पर महिला व एस.सी वर्ग को 33.33% तक की सब्सिडी मिलती है।

जनरल वर्ग के लिए यह सब्सिडी 25% तक की है।

उदाहरण के लिए: 10 पशुओं की डेयरी के लिए 10 लाख रुपये की जरूरत होगी और आपको इस योजना के तहत लगभग 2.5 लाख रुपये की सब्सिडी नाबार्ड की तरफ से मिल जाएगी।

सिर्फ़ 2 गाय या भैंस से भी डेयरी की शुरूआत की जा सकती है और इसके लिए आपको 35 से 50 हजार रुपये तक की सब्सिडी मिल जाएगी।

यह सब्सिडी केवल 10 पशुओं तक की डेयरी तक ही सीमित है।

इन योजनाओं के अंतर्गत लोन देने वाली संस्थाएं

व्यवसायिक बैंक

क्षेत्रीय बैंक

राज्य सहकारी बैंक

राज्य सहकारी कृषि और ग्रामीण विकास बैंक

नाबार्ड डेयरी सब्सिडी योजना और लोन के लिए योग्यता

१) लोन के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष और अधिकतम सीमा 70 वर्ष निर्धारित की गई है।

२) किसान, व्यक्तिगत उद्यमी, गैर-सरकारी संगठन, कंपनियां, असंगठित और संगठित क्षेत्र समूह आदि कोई भी जो डेयरी गतिविधियों में शामिल होते हैं और डेयरी का संचालन करते है।

३) इन योजनाओं का एक व्यक्ति केवल एक बार ही लाभ उठा सकता है।

४) एक ही परिवार के एक से अधिक सदस्य भी इसका लाभ उठा सकते हैं लेकिन उनकी इकाइयां अलग अलग होनी चाहिए और दो परियोजनाओं के बीच की दूरी कम से कम 500 मीटर होनी चाहिए।

५) किसी भी बैंक या लोन संस्थान में कोई भी डिफॉल्ट रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए।

६) भारतीय नागरिक जिनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड ना हो।

योजना से जुड़ी कुछ अहम बातें

अगर आप खुद के डेयरी प्लांट (Dairy Plant) खोल रहे है तो कुल लागत का कम से कम 10 फ़ीसदी आपको निवेश करना होगा। लोन मंजूर होने के 9 महीने के भीतर काम शुरू करना होगा।

डेयरी बिज़नेस लोन (Dairy Business Loan) का उपयोग विभिन्न उद्देश्यों जैसे कि पशुओं की खरीद, डेयरी प्रॉडक्ट, फार्म कंस्ट्रक्शन, दूध देने वाली मशीनों, शेड कंस्ट्रक्शन, डेयरी वस्तुओं, फार्म उपकरण आदि के लिए किया जा सकता है।

जानिए लोन के लिए कैसे करें अप्लाई

सबसे पहले डेयरी को रजिस्टर्ड कराना होगा।

डेयरी प्लांट के लिए एक detailed प्रोजेक्ट बनाएं। (डेयरी के लिए जगह, पशुओं की संख्या, इन्वेस्टमेंट, दूध निकालने की मशीन, चारा व कुट्टी काटने की मशीन आदि के बारे में सभी जानकारी होनी चाहिए)

अधिकृत बैंक जाकर लोन के लिए अप्लाई करें।

आप ऑनलाइन/ ऑफलाइन दोनो तरह से apply कर सकतें है।

Helpline Number

Helpline Number- 022-26539895/96/99

Email Id- webmaster@nabard.org

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *