अच्छी आदतें: जो आपका जीवन बदल सकती है।

अच्छी आदतें: जो आपका जीवन बदल सकती है।

जीवन को बदल देने वाली कुछ अच्छी आदतें जो समय के साथ बदलनी नही चाहिए जानिए इस लेख में ।

‘आदतें’ आपका दैनिक व्यवहार, जो दिनचर्या आप रोज दोहराते है उस डेली रूटीन को ही आदतें कहा जाता है। कुछ ऐसी अच्छी आदतें हैं जिन्हे अपनाकर हम सुख, समृद्धि और सफलता प्राप्त कर सकते है।

हमे कुछ भी रातों रात नही मिल सकता। कुछ भी पाने के लिए समय, मेहनत और लगन चाहिए होती है।

आज हम आपको ऐसी 10 अच्छी आदतों के बारे में बता रहे है जो आपका जीवन बदलने की ताकत रखती है।

1. सुबह जल्दी उठना – पिछली पीढ़ी के लिए सबसे आसान और युवा पीढ़ी के लिए सबसे मुश्किल काम। हर किसी को रोज सुबह जल्दी उठना चाहिए, क्योंकि यह एक ऐसा समय होता है जिस समय पूरी दुनिया सो रही होती है, सिर्फ सफल और कामयाब लोग ही जाग रहे होते है।

इस समय को हिन्दू धर्म में ब्रह्म मुहूर्त भी कहा जाता है, जिसमे आप जो कुछ भी भगवान से मांगते हैं वह आपकी हर मनोकामना पूरी कर देते है।

वैज्ञानिक रूप से देखें तो इस समय आपका दिमाग कहीं अधिक गुणा कार्य करता है, और विज्ञान मे यह साबित हो चुका है कि इस समय उठने वाले लोग ज्यादा शक्तिशाली और कामयाब होते है। उनका दिमाग अधिक तेजी से काम करता है। सुबह का वातावरण बहुत शांत होता है और शांत वातावरण मे हर कार्य अधिक सफलतापूर्वक किया जा सकता है।

2. एक ग्लास पानी पीना- रोज सुबह उठकर जो पहला कार्य हम सब को करना चाहिए वो है एक ग्लास पानी पीना। यह मौसम के अनुसार सामान्य, गुनगुना या तेज गर्म हो सकता है। यह शरीर के विषाक्त पदार्थों को आसानी से बाहर निकालता है। हर व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए सारा दिन में कम से कम 3-4 लीटर पानी अवश्य पीना चाहिए।

3. योग/व्यायाम/मेडिटेशन – “अपनाएं योग रहे निरोग” यह तो हम सभी को पता है कि व्यायाम करना कितना लाभदायक है, लेकिन इस आदत को अपनाना बहुत मुश्किल। हर रोज़ ज्यादा नहीं तो कम से कम 10 मिनट व्यायाम की आदत जरुर डालें। जब आप अच्छा महसूस करेंगे तो समय अपने आप बढ़ जाएगा। प्रतिदिन सुबह कहीं ऐसी खुली जगह पर जाएं, जहां आप ताजी हवा ले सकें। सुबह शांतिपूर्वक बैठकर 10 मिनट मेडिटेशन करें। यह आदत आपको सारा दिन के लिए तरोताजा रखेगी। यह आपमे एक नई स्फूर्ति और उत्साह का संचार करेंगी।

4. पढ़ना और सीखना – सीखने की कोई उम्र नहीं होती। किताबे पढ़ने और कुछ नया सीखने की आदत बनायें। किताबें पढ़ना ज्ञान प्राप्त करने और अपनी रचनात्मकता को प्रोत्साहित करने का एक शानदार तरीका है। अच्छी और ज्ञानवर्धन पुस्तकें न केवल हमारा ज्ञान बढ़ाती हैं बल्कि हमारा फोकस भी अच्छा करती है। किसी भी समय जब भी आपको मौका मिले पढ़ने के लिए बैठ जाए। रोजाना एक घंटा किताब पढ़ने की आदत डालें।

6. Perfect होने का pressure – perfect एक ऐसा शब्द जो आज हर कोई अपने लिए सुनना चाहता है और इसी टैग को पाने की दौड़ में लगा हुआ है। पर वाकई में हर किसी का perfect होना संभव ही नहीं है। हर एक व्यक्ति की अपनी काबिलियत और अपनी सीमाएं होती है। और हमें इन्हें जानकर इनके मुताबिक ही कार्य करना चाहिए। हमें ना कहना भी सीखना चाहिए यह जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति हर प्रकार का कार्य कर सकें।

7. घुमना-फिरना – Stress-free और Relax होने का सबसे बेहतरीन साधन। यह हर तरह से आपके लिए अच्छा है। आपके मन को शांत करता है, नए लोगों से मिलने, नई जगहों के बारे मे जानने, नए रीति-रिवाजों को समझने का मौका देता है। कोई भी व्यक्ति लगातार कार्य नहीं कर सकता उसे एक ब्रेक की आवश्यकता होती है, तो अगर आपको भी अपने कार्य और परेशानी से दूर कुछ सुकून के पल चाहिए तो उठाइए अपना बैग और निकल जाइए सैर पर। समय, स्थान और दिन अपनी सुविधा के अनुसार चुनिए।

8. समय का सदुपयोग – समय – जो कभी किसी के लिए भी लौटकर नहीं आता। एक बार जो पल बीत गया तो बीत गया दोबारा हाथ नहीं आता। इसलिए इसका सदुपयोग करना बहुत आवश्यक है, यदि आप अपने जीवन में time-management करते हैं तो आप सभी कार्यों के लिए समय निकाल पाएंगे और आपका हर कार्य निश्चित समय पर पूरा होगा। यह बात अच्छे से समझ लीजिए कि सफलता के लिए जीवन में समय का सदुपयोग करना बहुत जरूरी है, अपना एक पल भी बर्बाद नहीं करना चाहिए। हम सभी जानते हैं कि जो समय निकल रहा है, वह जीवन में कभी भी लौट कर वापस नहीं आएगा। एक कहावत भी मशहूर है – “अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत”।

9. सकारात्मक और आशावादी सोच – जैसा आप सोचते हैं, वैसा ही आपके चरित्र का निर्माण होता है, क्योंकि विचार शब्दो के रूप में पैदा होते हैं और शब्द कर्म में परिवर्तित हो जाते हैं। और कर्म आदतों का विकास करते हैं और आदतें चरित्र का निर्माण करती है”।

पॉजिटिव सोच अंधरे में प्रकाश की तरह कार्य करती है, अंधकार में जैसे प्रकाश की एक किरण अंधरे को दूर देती है, ठीक वैसे ही मुश्किल परिस्थितियों में पॉजिटिव सोच ऊर्जा भर देती है। सफलता और कामयाबी पॉजिटिव सोच से ही मिलती है, अगर हम पहले भी किसी चीज के लिए हार मान जाएंगे तो कोशिश कैसे करेंगे? मेहनत और सफलता की आशा ही हमें सफल बनाती है।

10. निर्धारित लक्ष्य पर फोकस – हर व्यक्ति का जीवन में एक लक्ष्य होना बहुत जरूरी है। लक्ष्य निर्धारित करना और फिर उसको पाने के लिए मेहनत करना ही सफलता की सीढ़ी है। महान और कामयाब लोग अपने निर्धारित लक्ष्य पर ही पूरा ध्यान देते है। सफल लोग कभी भी किसी दुसरे की सफ़लता देखकर या किसी दुसरे के कहने पर अपना कोई उद्देश्य नहीं बनाते है, बल्कि अपना लक्ष्य निर्धारित करके उसे हासिल करते है। छोटी -छोटी मुश्किलों से हमे अपना लक्ष्य नहीं बदलना चाहिए बल्कि मुश्किलों से सीखकर आगे बढ़ते रहना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि,

“जिसका कोई GOAL नहीं उसका जीवन में कोई ROLE नहीं”

भागती दौड़ती ज़िन्दगी में हमारा पूरा ध्यान अपने काम पर होता है जो की अच्छा भी है पर अपने लिए समय निकालना आपको रिचार्ज करता है और यह आपके स्वास्थ्य और सुखी जीवन के लिए भी बहुत लाभदायक है। काम के साथ आराम भी जरूरी है। अपने,अपने परिवार और अपने मित्रों रिश्तेदारों के लिए भी समय जरूर निकालें और इसे एक आदत बना लें। यह आदत आपको मानसिक रूप से स्वस्थ रखेगी। तो अपने लिए समय निकालिए, इन अच्छी आदतों को अपनाइए और अपना जीवन सफल बनाइए।

इन पांच आदतों से दूर रहें जो वित्तीय संकट का कारण बनती है

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *