जो भी होता हैं, अच्छे के लिए होता हैं! ये बताने वाली ऑफिस बॉय की कहानी

जो भी होता हैं अच्छे के लिए होता हैं बोध कहानी

जब कुछ भी अपने फेवर में नहीं हो रहा होता है तब हमें बहुत बुरा फील होता है।

लेकिन आज जो बात हमारे फेवर में नहीं हो पा रहीं हैं, उसी बात का परिणाम कल अच्छा भी हो सकता हैं।

ये हम क्यूँ नहीं समझ पाते…

आज हम आपको एक ऐसी ही कहानी बताने जा रहे हैं।

यह कहानी एक जाॅबलेस इंसान की है।

वह ‘१२ पास’ इंसान काम की तलाश में था।

तभी उसे पता चलता है, कि एक बड़ी कंपनी में एक ऑफिस बॉय की वैकेंसी है।

वहां पर वह इंसान अप्लाई करता है। उन्हें उस कंपनी द्वारा इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

जिस दिन इंटरव्यू होता है, उस दिन वह तैयार होकर उस कंपनी में इंटरव्यू के लिए पहुंच जाता है।

उस इंटरव्यू के आखिर में इंटरव्यू लेने वाला कहता है, अभी बाकी कि प्रोसेस कंप्लीट करने के लिए आपका ईमेल आईडी हमें दीजिए।

वह इंसान कहता है मेरे पास कोई ईमेल आईडी नहीं है।

इस बात पर इंटरव्यू लेने वाला कहता है आपने आज तक एक ईमेल आईडी नहीं बनाई है?

आज के जमाने में जिसके पास ईमेल आईडी नहीं है, वह व्यक्ति हमारे कंपनी के लिए योग्य उम्मीदवार नहीं हो सकता है।

आपको हम सिलेक्ट नहीं कर सकते।

वह इंसान बहुत ही निराश होकर वहां से बाहर आता है।

वह अपने जेब में हात डालता है तो उसे जेब में पांचसौ रूपये मिलते है।

वह इंसान वहां से सीधा सब्जी मंडी में जाता है।

उसी पैसे से वह सब्जियां खरीदता है और घर-घर जाकर उन्हें बेच देता है।

थोडी देर में उसकी सब्जी बेचकर होती है।

वह देखता है कि, उसके पास अब पैसा दोगुना हो गया है।

वह अगले दिन, फिर से सब्जी मंडी जाता है और दिन भर सब्जियां खरिदता और बेचता है।

शाम को घर आने पर देखता है कि उसके पास काफी पैसे जमा हुए हैं।

वह सोचता है कि अगर मैं हर दिन ऐसा करता हूं, तो मैं अच्छा पैसा कमा पाऊंगा।

अब वह रोज सुबह जल्दी उठकर सब्जी मंडी जाता है।

वहां से सब्जीयां खरिदकर दिन भर घर-घर जाकर बेचाता है।

वह जल्द ही सब्जियों का बड़ा व्यापारी बन जाता है।

कुछ सालों में वह शहर का एक बड़ा व्यापारी बनता है।

कुछ दिन बाद वह शादी करता है। दो बच्चों का पिता और जिम्मेदार पुरूष बन जाता है।

अपने बच्चों औऱ परिवार का जीवन सुरक्षित करने के लिए वह बीमा करवाने के बारे में सोचता है।

वह इंश्योरेंस कराने के लिए इंश्योरेंस एजेंट को अपने घर बुलाता है।

इंश्योरेंस एजेंट फाॅर्म भरने की प्रक्रिया पुरी करता है।

उसके बाद इंश्योरेंस एजेंट उसे कहता है, आप मुझे अपनी ईमेल आईडी दीजिए ताकि मैं आपको मेल में एक कॉपी भेज सकूं।

वह इन्सान हँसके कहता है, मेरे पास कोई ईमेल आईडी नहीं है।

उस पर इन्श्योरेंस एंजेंट कहता है कि आप शहर के इतने बड़े व्यापारी हैं और आपके पास ईमेल आईडी नहीं है!!

सरजी, अगर आपके पास ईमेल आईडी होती तो आज आप कहां होते?

उस पर वह इंसान हँसके कहता है कि, अगर मेरे पास ईमेल आईडी होती तो मैं आज भी एक ऑफिस बॉय होता!!!

इस कहानी से हमें यह बात ध्यान में आती है कि जो भी होता है वो अच्छे के लिए ही होता है।

बस हमें कभी हार नहीं माननी है। और अपने प्रयासों को जारी रखना हैं।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

2 thoughts on “जो भी होता हैं, अच्छे के लिए होता हैं! ये बताने वाली ऑफिस बॉय की कहानी”

  1. इस कहानी द्वारा जो सिख मिली है खास करके अभी के माहोल मे बहुत ही जरुरी है !
    प्रेरणादायी स्टोरी है !
    धन्यवाद .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *