माइग्रेन के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

माइग्रेन के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

सिर के आधे हिस्से में दर्द को माइग्रेन कहा जाता है।

कई लोग इस समस्या से पीड़ित होते हैं। यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक आम है।

माइग्रेन में सिर के एक तरफ बहुत दर्द होता है। माइग्रेन में सिरदर्द के साथ आंखों के नीचे काले घेरे, उल्टी जैसे लक्षण होते हैं।

आजकल की बदली हुई जीवनशैली, अनुचित आहार, आनुवंशिकता, मानसिक तनाव, मौसम के बदलाव, उच्च रक्तचाप या कुछ दवाओं के दुष्प्रभावों के कारण लोग माइग्रेन से पीड़ित हैं।

माइग्रेन का कारण | माइग्रेन कैसे होता है – Migraine causes :

1) आंखों पर अचानक बहुत ज्यादा रोशनी पड़ना।

2) मसालेदार भोजन, तैलीय-मसालेदार-नमकीन खाद्य पदार्थ, फास्ट फूड, चाय, कॉफी आदि का आधिक मात्रा में सेवन करना।

3) अपर्याप्त नींद, जागना और कुछ दवाओं के दुष्प्रभाव के कारण

4) स्मार्टफोन, लैपटॉप, टीवी पर बहुत समय गुजारना।

5) डिहाइड्रेशन के कारण

6) महिलाओं में हार्मोन असंतुलन माइग्रेन का कारण बन सकता है।

कई महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान माइग्रेन की प्राॅब्लैम होती है।

4) गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल परिवर्तन

5) तेज आवाजे सुनाई देने पर

6) मानसिक तनाव के कारण

7) असहनीय गंध के कारण

8) रोज की यात्रा के कारण

9) सिगरेट – तंबाकू, धूम्रपान, शराब जैसे व्यसनों के कारण माइग्रेन का दर्द होता है।

माइग्रेन के लक्षण – Migraine symptoms:

माइग्रेन की शुरुआत से पहले कुछ लक्षण में दिखाई देती है।

लक्षणों में आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, तेज रोशनी के सहन न होना, हाथों और पैरों में झुनझुनी और कभी-कभी बोलने में कठिनाई शामिल हो सकती है।

इसके तुरंत बाद, माइग्रेन निम्नलिखित लक्षण दिखाने लगता है।

1) माइग्रेन मुख्य रूप से सिर के एक तरफ यानि आधे सिर में भारी दर्द शुरू होता है।

2) धुंधली दृष्टि, टिमटिमाते तारे। तेज प्रकाश और ध्वनि सहन न होना।

3) उल्टी

4) बेचैनी

5) कमज़ोरी महसूस होना

6) भूख में कमी,

7) बहुत ज़्यादा पसीना आना।

8) किसी भी चीज पर ध्यान न लगना

माइग्रेन के सिरदर्द में इस प्रकार के लक्षण महसूस होंगे।

इसके अलावा, जबकि कुछ मरिज आधा सिर से पीड़ित हैं, उनके शरीर को अस्थायी रूप से पक्षाघात हो जाने से हाथ पैर हिलान मुश्कील हो जाता है।

आधे सिर दर्द पर रें ये घरेलू उपचार – Migraine home remedies :

१) अदरक

यदि सिर का आधा भाग दर्द करता है, तो अदरक के टुकड़े चबाते रहें।

माइग्रेन की स्थिति में अदरक चबाकर खाने से कुछ हद तक आराम महसूस होता हैं।

यह सिरदर्द को रोकने और माइग्रेन से होने वाली उल्टी की तकलीफ को कम करने के लिए भी उपयोगी है।

२) दालचीनी

दालचीनी पाउडर को थोड़े से पानी के साथ मिलाएं और एक पतला पेस्ट बनाएं।

अगर आपको माइग्रेन के कारण सिरदर्द है, तो इस पेस्ट को अपने माथे पर लगाएं।

यह माइग्रेन के सिरदर्द को रोकने में मदद करता है।

३) लौंग

सिरदर्द होने पर तवे पर कुछ लौंग गर्म करें और उन्हें रूमाल में लपेटें उन्हें सूँघते रहें।

इसके अलावा, लौंग का पेस्ट माथे पर लगाने से भी माइग्रेन का सिरदर्द कम हो सकता है।

माइग्रेन के सिरदर्द के लिए यह आयुर्वेदिक उपाय बहुत उपयोगी है।

४) देशी गाय का घी

माइग्रेन होने पर नाक में देशी घी की 2-2 बूंदें डालें।

देशी गाय के घी के साथ कपूर मिलाएं और इसे माथे पर लगाएं।

५) ठंडे पानी की पट्टी

माइग्रेन के मामले में, दर्द वाले स्थान पर ठंडे पानी की पट्टी लगाएँ।

ऐसा करने से सिरदर्द कम करने में मदद मिलेगी।

बहुत अधिक प्रकाश से दूर रहें –

माइग्रेन के सिरदर्द में आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, और इसके बाद सिरदर्द और उल्टी की समस्या होती है।

इसलिए, यदि आप माइग्रेन के सिरदर्द में आंखों के सामने अंधेरा महसूस करने लगे, तो बहुत अधिक प्रकाश देखने से बचें।

स्मार्टफोन, टीवी, लैपटॉप का इस्तेमाल बंद कर दें।

इस मामले में, अपनी आँखें बंद करके आँखों को आराम देने से राहत मिल सकती हैं।

माइग्रेन के सिरदर्द से बचने के लिए सावधानियां बरतें.. Migraine headache solutions

माइग्रेन के सिरदर्द को रोकने के लिए क्या करना चाहिए, क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए, इस बारे में जानकारी नीचे दी गई है।

1) एक संतुलित आहार खाएं।

2) आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां और फल शामिल करें।

3) बहुत देर तक भूखे न रहें।

4) दिन भर में कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पिएं।

5) मसालेदार भोजन, तैलीय-मसालेदार-नमकीन भोजन, फास्ट फूड खाने से बचें। अर्थात् पित्त को बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ न खाएं।

6) बार-बार चाय – कॉफी पीने से बचें।

7) इस बात का ख्याल रखें कि पेट साफ रहना चाहिए।

8) लगातार स्मार्टफोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, टीवी के सामने न बैठें।

9) बहुत अधिक प्रकाश देखने से बचें।

10) रात को जागने से बचें। प्रतिदिन कम से कम 6 से 7 घंटे की नींद आवश्यक है। पर्याप्त नींद लो।

11) नियमित रूप से व्यायाम करें। हर दिन कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करें।

खुली हवा में टहलने जाएं।

12) मानसिक तनाव, चिंता से दूर रहें। ध्यान, योग, प्राणायाम को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाए।

13) अगर आपको बार-बार सिरदर्द होता है तो अपनी आंखों की जांच भी कराएं।

14) तंबाकू, गुटखा, सिगरेट, बीड़ी की लत से बचें।

15) माइग्रेन के सिरदर्द के लिए लगातार दर्द निवारक लेने से बचें।

आपकी समस्या के अनुसार एक्सपर्ट या डॉक्टर की राय लेना बेहद जरुरी है।/ The information is not a substitute for professional medical advice, diagnosis, or treatment.

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *