प्ले स्कूल भी बन सकता है आपके रोजगार का साधन, जानिए कैसे आएगा पैसा

प्ले स्कूल भी बन सकता है आपके रोजगार का साधन

अगर आप पढ़े-लिखे हैं और बेरोजगारी की समस्या से परेशान हैं तो आप प्ले स्कूल खोलकर उसे अपने रोजगार का साधन बना सकते हैं।

आजकल स्कूल चलाकर आसानी से अच्छा पैसा कमाया जा सकता है क्योंकि यह शिक्षा के विस्तार का जमाना है।

प्ले स्कूल किसे कहा जाता है?

आपको बता दें कि प्ले स्कूल छोटे बच्चों के स्कूल को कहा जाता है।

इसे किड्स स्कूल,प्री स्कूल या फिर नर्सरी स्कूल भी कहते हैं।

यहां 3 से 5 साल की उम्र तक के बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं।

यहां प्री- नर्सरी,नर्सरी,केजी-1और केजी-2 तक बच्चों को पढ़ाया जाता है।

प्ले स्कूल खोलने का उद्देश्य क्या है?

प्ले स्कूल बच्चों की भावी शिक्षा की नींव को मजबूती प्रदान करने के लिए खोला जाता है।

यहां बच्चों को खेल-खेल में पढ़ना-लिखना सिखाया जाता है।

3 से 5 साल के छोटे बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ-साथ अच्छे नैतिक संस्कार भी सिखाए जाते हैं।

उनमें आचार-व्यवहार से संबंधित श्रेष्ठ गुण पैदा किए जाते हैं।

विभिन्न प्रकार के खेल खेलना सिखाया जाता है तथा उनके व्यक्तित्व के विकास को सही दिशा देने की कोशिश की जाती है।

बच्चों की बोलचाल को भी निखारने का प्रयास किया जाता है।

प्ले स्कूल की भावी उन्नति के क्या अवसर हैं?

यह बात बहुत ही ज्यादा खुशी देने वाली है कि हमारे देश में प्ले स्कूल की उन्नति या प्रगति के अच्छे अवसर मौजूद हैं।

शिक्षा तथा तकनीकी क्षेत्र में निरंतर प्रगति हो रही है।

नए-नए उद्योगों और व्यापार प्रतिष्ठानों की स्थापना हो रही है जिस कारण शिक्षित लोगों की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

इसीलिए उच्च शिक्षा की शानदार नीवं रखने वाले इन प्रारंभिक शिक्षा स्कूलों यानी प्ले स्कूलों की काफ़ी आवश्यकता है।

व्यक्ति प्ले स्कूल खोलकर काफ़ी उन्नति कर सकता है।

प्ले स्कूल खोलने के लिए उपयुक्त जगह कौन-सी हो सकती है?

प्ले स्कूल खोलने तथा उसे बेहतर ढंग से चलाने के लिए एक उपयुक्त जगह का होना भी अनिवार्य है।

प्ले स्कूल को हमेशा ऐसी जगह पर खोलना चाहिए जहां आबादी घनी हो तथा छोटे बच्चों की अच्छी-खासी संख्या हो।

अगर ऐसी जगह में पहले से ही कई ऐसे स्कूल मौजूद हों तो किसी दूसरी ऐसी ही जगह का चुनाव करना चाहिए जहां कम संख्या में प्ले स्कूल मौजूद हों।

प्ले स्कूल के लिए भवन या सुविधाएं क्या-क्या हों?

आप प्ले स्कूल खोलने के लिए उचित भवन या इमारत का निर्माण भी कर सकते हैं और उसे किसी किराए की इमारत में भी चला सकते हैं।

इसके लिए लगभग 2000 से 4000 हज़ार वर्ग फीट जगह की जरूरत होती है।

आप उसमें बच्चों की रुचि के अनुरूप रंग-रोगन करवा कर उसे सजा-संवार सकते हैं।

स्कूल में बच्चों के लिए पर्याप्त संख्या में मेज़-कुर्सियां खिलौने, ब्लैक बोर्ड, किताबें आदि होनी चाहिए।

साथ ही स्कूल के कमरे हवादार होने चाहिए।

दीवारों पर आकर्षक चित्रकारी होनी चाहिए जैसे कि रंगीन बाल चित्रकारी, पेड़,शिक्षाप्रद चित्र, प्रेरक प्रसंग आदि।

स्कूल के अंदर भी पेड़-पौधे होने चाहिए। साथ ही शौचालयों तथा पीने के पानी की सभी सुविधाएं भी हों।

स्कूल के लिए अनिवार्य जरूरतें कौन-सी हैं?

प्ले स्कूल खोलने के लिए सबसे अनिवार्य होता है उसका रजिस्ट्रेशन कराना।

इसके लिए कम से कम 3 लोगों का ट्रस्ट बनाना पड़ेगा और उसका रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

जिस जमीन पर स्कूल को खोलना है उसके वैध कागजों का होना भी जरूरी होता है।

आप प्ले स्कूल खोलने के लिए फ्रेंचाइजी भी ले सकते हैं।

आजकल कुछ लोग प्रसिद्ध ब्रांड वाले स्कूलों की फ्रेंचाइजी लेकर भी स्कूल खोल रहे हैं।

इन सबमें आपके 2 से15 लाख रुपए खर्च हो सकते हैं।

अपने प्ले स्कूल का प्रचार-प्रसार कैसे करें?

स्कूल खोलने के बाद उसमें पढ़ाने-लिखाने के लिए अच्छी संख्या में बच्चे भी चाहिए।

स्कूल में अच्छी संख्या में बच्चे तभी आएंगे जब आप अपने स्कूल का आसपास के लोगों में बेहतर प्रचार-प्रसार करें।

इसके लिए आपको लोकल समाचारपत्रों व पत्रिकाओं में अपने स्कूल के सुंदर विज्ञापन देने चाहिए।

पंपलेट छपवाकर उन्हें आसपास की कालोनियों में बंटवाना चाहिए।

इसके अलावा आप डोर-टू-डोर भी अपने स्कूल का प्रचार-प्रसार कर सकते हैं।

इस तरह आप लोगों को प्रभावित कर अपने स्कूल में अच्छी संख्या में बच्चे जुटा सकते हैं।

प्ले स्कूल के लिए उचित पाठ्यक्रम का चुनाव कैसे करें?

प्ले स्कूल के लिए उचित पाठ्यक्रम को चुनने के लिए पूरी समझदारी से काम लेना चाहिए।

पाठ्यक्रम हमेशा छोटे बच्चों के अनुकूल ही चुनें।

इसके लिए सबसे बेहतर तरीका यह है कि आप अपने आसपास मौजूद ऐसे कुछ स्कूलों का दौरा करें और उनके पाठ्यक्रम की बारीकी से जांच-परख करें।

फिर पूरी तरह से सोच-विचार करके अपने स्कूल के लिए पाठ्यक्रम तय करें।

इस मामले में आप किसी अनुभवी शिक्षा विशेषज्ञ आदि की राय भी ले सकते हैं।

हमेशा इस बात पर जोर दें कि आपके स्कूल की किताबें या पाठ्यक्रम पूरी तरह से सामाजिक मूल्यों तथा आदर्शों पर आधारित होना चाहिए।

प्ले स्कूल से आपको कितनी आमदनी हो सकेगी या आप कितना पैसा कमा सकेंगे?

प्ले स्कूल खोलकर और उसे बेहतर ढंग से से चलाकर आप अच्छा-खासा पैसा कमा सकते हैं।

आप 50 हज़ार से लेकर 1 लाख तक की मासिक कमाई आराम से कर सकते हैं।

आजकल प्ले स्कूलों में बच्चों के माता-पिता से अच्छी फीस वसूली जा रही है।

500 से 2000 रुपए तक मासिक फीस के तौर पर वसूले जाते हैं।

इसे ध्यान में रखकर कहा जा सकता है कि जो पूंजी आप इसमें लगाएंगे वह 1 या 2 साल में ही वापस निकल आएगी।

प्ले स्कूल खोलते समय इन बातों पर भी विशेष ध्यान दें

1) प्ले स्कूल तभी खोलें जब आपको छोटे बच्चों से गहरा लगाव तथा पूरा स्नेह हो। आप बच्चों के बीच खुश रह सकें।

2) प्ले स्कूल के लिए टीचर्स एवं अन्य कर्मचारी नियुक्त करते समय इस बात पर ध्यान दें कि वे बच्चों के प्रति प्रेम से व्यवहार करने के आदी हों। उनमें पूरी सहनशीलता और स्नेह हो।

3) आप में ऐसा टेलेंट होना चाहिए कि आप स्कूल के माहौल को बच्चों की रुचि के अनुसार ढाल सकें।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *