क्या आप अपने सामने बैठे व्यक्ति का चेहरा पढ़ सकते हैं?

फेस रीडिंग हिंदी

आज का लेखन का विषय है “क्या आप अपने सामने बैठे व्यक्ति का चेहरा पढ़ सकते हैं? ” चेहरे से जाने भविष्य | पैर से जाने भविष्य | चेहरा ज्योतिष | चेहरे के आकार से जाने भविष्य

तो जी हाँ आप सामने बैठे व्यक्ति के चेहरे मात्र को देख कर उसके मन की बात जान सकते है।

“फेस रीडिंग” से सम्बंधित इस लेख का उद्देश्य यही है की आप किसी भी व्यक्ति का चेहरा पढ़ने के तरीको को आसानी से समझ पाए व् इससे मिली सीख को अपने जीवन में उतार पाए।

सबसे महत्वपूर्ण बात ये है की यदि आप किसी व्यक्ति के अंतः स्वभाव को जानना चाहते हैं तो आपको उसका चेहरा पढ़ने में सक्षम होना ही होगा बिना चेहरा पढ़े आप किसी को समझ नहीं सकते।

यह ठीक वैसा ही है जैसे आप किसी से जीवन भर का संबंध जोड़ना चाहते है तो आपको उसके बारे में कुछ बातें तो पता होनी चाहिए है ना?

अब चलिए ये तो ठहरी विवाह की बात इतना ही नहीं यदि आप किसी व्यक्ति के साथ व्यापार भी करना चाहते हैं, तो आपको यह तो जानना होगा कि वह व्यक्ति आखिरकार है कैसा?

तो अब सवाल यह है कि चेहरे को आखिर कैसे पढ़ा जाए?

तो मित्रो बहुत ही आसानी से किसी भी व्यक्ति की आँखों की बनावट, मस्तक की संरचना, होंठों का आकर और कानों का आकार तथा लंबाई से आप पता लगा सकते है की सामने वाले व्यक्ति कैसा है?

पहले हम आँखों की बनावट तथा उनके रंग व प्रकार पर गौर करेंगे।

दैनिक जीवन में जब हम किसी भी व्यक्ति से बात करने जाते हैं, तो सबसे पहले हमारा ध्यान उसकी आँखों पर ही जाता है, बिना “आई कांटेक्ट” के आप जान ही नहीं सकते की वह व्यक्ति आपकी बातो पर ध्यान दे भी रहा है या नहीं।

फिर बातो का सिलसिला शुरू होता है, और हाँ आँखे मिलाकर बात करने से आप में आत्मविश्वास भी बढ़ेगा और आप सामने वाले व्यक्ति को देख समझ भी पाएंगे की वह व्यक्ति आपकी बात को किस तरह से समझ रहा है।

तो चलिए शुरू करते है

१) सर्वप्रथम हम देखेंगे की सामने वाले व्यक्ति की दोनों आँखें कैसी हैं?

अर्थात उसकी दो आँखों के आंतरिक छोरों के बीच की दूरी कितनी है ।

इसे ऐसे समझिये जैसे नाक चौड़ी होगी तो दोनों आँखों के बीच की दुरी अधिक होगी और यदि नाक तीखी या तेज होगी तो दोनों आँखों के बीच की दुरी कम होगी।

अब समझिये की आप दोनों आँखों के बीच की दूरी से उस व्यक्ति के बारे में क्या जान सकते है…

1) देखिये जिन लोगों की आंखों के बीच थोड़ी ज्यादा दूरी होती है वे हर कार्य को आसानी से समझ लेते है |

कि उन्हें किस तरह का काम करना है या वे किस तरह का काम कर सकते है उन्हें किसी भी कार्य को समझने अधिक मशक्कत नहीं करनी पड़ती है।

वे मात्र परिणाम से ही खुश हो जाते है कार्य किस तरह से पूर्ण हुआ होगा या कितना समय लगा होगा इसकी गहराई में वे कभी नहीं जाते।

और ठीक इसके विपरीत जिन लोगों की आंखों के बीच दुरी थोड़ी कम होती है, वे कार्य को समझने में अधिक समय लगाते है उन्हें हर कार्य का सम्पूर्ण विवरण चाहिए होता है वे परिणाम मात्र से खुश नहीं होने वाले।

आप ध्यान दे की आँखों की बनावट किस तरह की है इससे आपको व्यापार में भी काफी मदद मिल सकती है।

हर कार्य को बेहतरीन तरीके से करने की इनकी पूर्ण क्षमता होती है वे यह भी जानते हैं कि किस कार्य को कैसे करना है और हाँ यदि उस काम को किसी अन्य तरीके से किया गया होता तो फर्क क्या होगा ?

अगर एक लाइन में कहा जाये तो इन लोगो की कार्य को समझने व करने में पी. एच. डी. होती है।

2) चलिए अब जानते है ऐसे व्यक्तियों के बारे में जिनके आंखों के कोर ऊपर की तरफ मुड़े होते हैं, या नीचे की तरफ मुड़ होते हैं, या सीधे होते हैं।

जिन लोगों की आँखों की कोर थोड़ी ऊपर की ओर मुड़ी होती हैं वे हमेशा सकारात्मक अर्थात पॉजिटिव ही सोचते हैं, वे नकारात्मक बातो में भी सकारात्मकता ढूंढ ही लेते है।

जिन लोगों की आँखों की बाहरी कोरे सीधी होती हैं, वे नकारात्मक और सकारात्मक दोनों विचारो को संतुलित करने में अत्यधिक सक्षम होते हैं।

और जिन लोगों की आँखों की कोर नीचे की और होती हैं उनमें कम आत्मसम्मान , स्वाभिमान और नकारात्मकता के भाव अधिक होते है।

तथा जिन लोगों की आँखों की बनावट सामान्य हैं, वे आंतरिक रूप से तो सामान्य हैं।

लेकिन जिन लोगों की आँखे थोड़ी बाहर निकली होती हैं वे स्वभाव से आक्रामक, चिड़चिड़े एवं गुस्सैल होते है आप किसी व्यक्ति को ध्यान में ला कर देख लीजिये इस लेख की सभी बाते आपको चेहरा पढ़ने हेतु सच्चाई से रूबरू कराती है।

२) ये तो हुई आँखों की बात चलिए अब कानों को देखते है।

याद है आपको पीके मूवी के आमिर खान के कान! आइये देखे कानो की बनावट आखिर क्या कहती है

1) अगर आपके कान आकार में थोड़े बड़े हैं तो आपको लोगो से बात करना बहुत ज्यादा पसंद आता है आप जल्दी घुलमिल भी जाते है।

अगर कोई आपसे बात करने आता है, तो आप पहले उनकी बात सुनते हैं और फिर अपनी बात रखते है। और परिणाम स्वरुप बहुत सुनने के कारण ऐसे लोगों को बहुत ज्ञान होता है।

और हाँ महिलाये ध्यान दीजिये अगर आपको लगता है की आपके पति को आपकी हर बात माननी चाहिए तो ऐसे व्यक्ति का चयन करना ठीक रहेगा जिसके बड़े कान हो!! बात पते की है आप समझ सको तो समझ लो😍।

2) दूसरी बात यह की अगर आपके कान लंबे हैं और वे ऊपर से फैल रहे हैं तो ऐसा व्यक्ति कभी हार नहीं मानता उदाहरण के लिए, आमिर खान के कान ऐसे हैं जिन्हें आप किसी भी विज्ञापन में आसानी से देख सकते हैं और शायद इसीलिए ये लोग स्मार्ट या ज़िद्दी होने पर परफेक्शनिस्ट बन ही जाते हैं।

मनाचेTalks मराठीमें इन्ही “परफेक्शनिस्ट्स” के बारे में एक लेख लिखा गया है उसका लिंक यहाँ दिया गया है |

जल्द ही उसका हिंदी संस्करण यहाँ लिखा जायेगा उसे पढ़ने के लिए मनाचेTalks हिंदी के फेसबुक पेज को फ़ॉलो करना मत भूलिए।

3) छोटे कान वाले लोग दूसरों की बात सुनेंगे और अपने बारे में भी बताएंगे लेकिन जिन लोगों के कान बहुत ज्यादा छोटे होते हैं वे केवल अपनी ही बाते सुनाते रहते है अर्थात सुनते कम सुनाते ज्यादा है दुसरो की बिलकुल नहीं सुनते।

यदि आप अपनी ऊँगली से नाक के नथुनों के नीचे से एक सीधी रेखा अपने कानों तक खींचते हैं तो और अगर कान ऊपर की तरफ है तो ऐसे लोग जल्दी से सब कुछ समझ तो लेते है, लेकिन कभी-कभी वे जल्दी के चक्कर में गलत अर्थ निकाल कर कार्य कर लेते है और जिन लोगों के कान उस सीधी रेखा के बराबर होते हैं उन्हें हर कार्य को देखने और समझने की आदत होती है इसमें थोड़ा समय लगता है लेकिन गलतियां कम जरूर होती हैं।

३) चलिए अब पता लगाते हैं की होंठ का आकर आपके बारे में क्या कहता हैं?

1) जो लोग खुले हुए मुंह के साथ मुस्कुराते हैं अर्थात जब वे खुलकर मुस्कुराते हैं तो उनके मुंह ज्यादा से ज्यादा खुलते हैं और उनके चेहरे पर वाकई एक प्रसन्नता वाली मुस्कान देखी जा सकती है।

जो लोग ऐसे हंसते हैं वो सामाजिक होते हैं, मेरा मतलब है उनके बहुत सारे दोस्त होते हैं वे पूरे जीवन का आनंद लेते हैं, जोर से हँसते है और दूसरे के कार्य की सराहना भी करते है।

जो लोग सिर्फ मुस्कुराना ही जानते हैं या अपना मुंह हल्का सा खोलते हैं और फिर तुरंत बंद कर देते हैं उनके मुंह का आकार भी छोटा होता है।

ऐसे लोग थोड़े रिजर्व माइंडेड होते हैं।

2) खासकर आपके होंठ भी लोगों को आपकी विशेषताओं के बारे में बताते हैं। जिन लोगों का ऊपरी होंठ मोटा होता है वे किसी से बात करते हुए बहुत स्पष्ट रूप से अपना पक्ष रख देते है।

और जिन लोगो के होंठ पतले होते है वे कभी किसी के सामने बात नहीं करते हैं वे बातो को छुपाना बखूबी जानते है अगर आप ऐसे लोगों को अपने बिजनेस पार्टनर के तौर पर रखते हैं निश्चित कर लीजिये की आपकी और उनकी सोच में बहुत बड़ा अंतर है जो शायद आपको आगे चल कर दिक्कत दे सकता है।

४) अब आइए माथे की संरचना को देखते है इसे मस्तक कहना ठीक होगा

मनुष्य का मस्तक एक तरह से कहा जाए तो “पावर हाउस” है।

सारी शक्ति वहां विध्यमान होती है जैसे, मस्तक के पीछे मानव मस्तिष्क का पश्च भाग होता है। यही से मस्तिष्क आपके पूरे शरीर को नियंत्रित करता है।

1) आपका मस्तक दिखाता है कि आपका दिमाग कैसा है। आपके मस्तक का आकार आपको अपने “ब्रेन पावर” की क्षमता का अहसास करवाता है।

एक बड़ा माथा किसी भी व्यक्ति के बारे में स्पष्ट रूप से बताता है की, इन मस्तिष्क वाले लोगो के पास बहुत सारा आज की टेक्निकल भाषा में कहा जाये तो ‘डाटा’ इकठ्ठा रहता है।

जैसे की अगर वे किसी नौकरी में कार्यरत है तो वे उस नौकरी की पूरी जानकारी लेते हैं।

क्या, कब, कैसे, कहाँ इन सबकी जानकारी उन्हें होती है। तो दोस्तों चौड़े और बड़े मस्तक वाले लोग अधिक जानकारी इकट्ठा कर सकते है।

वे खेल, कला, विज्ञान, खाना बनाने में सबमे माहिर होते है।

2) कुछ लोगो के मस्तक का आकर छोटा होता है, कुछ का उभरा हुआ होता है, कुछ लोगो का अर्ध चंद्रमा के समान होता है।

जिनके मस्तक थोड़े लंबे होते है वे लोग थोड़े जल्दबाजी वाले होते हैं।

उनके पास धैर्य बिलकुल भी नहीं होता है।

जबकि सीधे मस्तक वाले लोग हर तथ्य में संतुलित होते है और उनमें धैर्य भी होता है उभरे हुए मस्तक वाले लोग ज्यादा होशियार व् धैर्य वाले होते हैं।

अर्ध चंद्रकार मस्तक वाले पुरुष अधिक उदारवादी अर्थात बड़े दिल वाले होते है।

आप अपने हमसफ़र को चुनने के लिए इस लेख में लिखित “फेस रीडिंग”से संबंधित बातो का उपयोग कर सकते हैं।

इन सभी बातो को ध्यान में रखते हुए आप अपने दैनिक जीवन में मिलने-जुलने वाले लोगों के चेहरे को पढ़ सकते हैं।

और धीरे-धीरे चेहरे से उनके व्यक्तित्व को समझ सकते है और फिर आप सही लोगों को चुनकर अपने जीवन में सफल हो सकते हैं।

यह “फेस रीडिंग” निश्चित रूप से आपके सामाजिक जीवन की एक कुंजी साबित हो सकती है।

तथा इसके अलावा कई अन्य छोटे-छोटे पहलू हैं जिन्हें आप चेहरे को पढ़ कर सीख सकते हैं।

एवं सामाजिक तथा आर्थिक रूप से इसका लाभ ले सकते है ये फेस रीडिंग का लेख आपको बहुत काम आने वाला है।

ये लेख आपको कैसा लगा ये हमे कमेंट्स में बताना न भूलिए। मनाचेTalks हिंदी में ऐसेही रोचक विषयों के बारे हम आपसे रूबरू होंगे। मनाचेTalks के बारेंमे अपने मित्रों को बताना शेअर करना न भूले।

धन्यवाद

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

1 thought on “क्या आप अपने सामने बैठे व्यक्ति का चेहरा पढ़ सकते हैं?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *