स्मार्टफोन के उपयोग के ये मैनर्स आपको जरूर जानने चाहिए

स्मार्टफोन के उपयोग के ये मैनर्स आपको जरूर जानने चाहिए

हम बिजली का उपयोग करते हैं, लेकिन कभी-कभी झटका लगता है।

हम एक वाहन का उपयोग करते हैं, कभी-कभी एक दुर्घटना होती है।

हम खाना पकाने के लिए गैस का उपयोग करते हैं, कभी-कभी यह रिसाव और आग पकड़ सकता है।

इसलिए हम बिजली, वाहन, गैस का उपयोग करना बंद नहीं करते हैं, हम इन चीजों का उपयोग करने के नियमों को सीखते हैं और ध्यान रखते हैं।

स्मार्टफोन और सोशल मीडिया भी काफी उपयोगी है। और खतरनाक भी है।

लेकिन इसके नियमों को सीखने में हमारी कोई दिलचस्पी नहीं होती है। जबकि जरूरी है मोबाइल फोन और सोशल मीडिया के भी नियम रूपी सिद्धांत को हमें जानना चाहिए।

आज के इस लेख में हम इसी विषय पर बात करेंगे।

स्मार्टफोन के उपयोग करने के manners –

1) गलत मेसेज का जाना 

आपने अनुभव किया होगा कि यदि किसी व्यक्ति के फोन से गलती से कोई नंबर डायल किया जाता है या यदि नाम समान है, तो व्हाट्सएप से गलत व्यक्ति को एक संदेश भेजा जाता है।

इससे गलतफहमी, झगड़े और झगड़े होते हैं। यह तकनीक के लिए एक झटका है। इसलिए अगर आप इसके बारे में शांति से सोचते हैं, तो यह सिर्फ एक गलती है।

संदेह संदेह बढ़ाता है, जबकि विश्वास विश्वास बढाता है।

2) दूसरों के फोन का उपयोग न करें 

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने करीब हैं, अन्य लोगों के फोन को न छुएं।

उनसे फोन न लें, उनके फोन से कॉल न करें।

यदि कोई आपात स्थिति है,तो पहले यह सुनिश्चित करें कि फोन वाले व्यक्ति आपके जान पहचान का है।

3) समझें कि हर कॉल रिकॉर्ड किया जा रहा है

समझें कि आपकी हर कॉल रिकॉर्ड की जा रही है। यदि सामने वाला व्यक्ति किसी बुरे मुद्दे के बारे में बात करना शुरू कर दे, जिससे आपकी बदनामी हो सकती है, तो इसमें भाग न लें।

उस व्यक्ति से बात करना बंद करें, विषय बदलें या फोन काटें।

लेकिन यदि आप किसी की प्रशंसा करने जा रहे हैं, तो चिंता न करें।

इससे आपको ही फायदा होगा।

4) वॉट्सएप ब्रॉडकास्ट की एक बुरी आदत 

बहुत से लोग व्हाट्सएप पर परिचितों का एक प्रसारण समूह बनाने

और सुबह, शाम, गुड मॉर्निंग आदि में उनकी तस्वीरें पोस्ट करने का काम करते हैं।

यदि आपको बिना किसी कारण के हर दिन आपके नंबर से संदेश मिलते हैं, तो लोग आपकी उपेक्षा करेंगे।

फिर एक दिन आप एक संदेश छोड़ते हैं कि हमारे घर में एक तेंदुआ घुस गया है।

तो हो सकता है, लोग आपके संदेश को नहीं पढ़ेंगे। हो सकता है कि उन्होंने आपको ब्लैक आउट भी किया हो।

5। फेसबुक पर जन्मदिन

अपनी भतीजी और भतीजे का जन्मदिन मनाते हुए, बच्चों की तस्वीरें खुशी से फेसबुक पर पोस्ट की जाती हैं।

इस तस्वीर में बुरे दिमाग वाले लोग क्या देख रहे हैं। आपका धन कितना है घर में कौन-कौन सी चीजें हैं? अगर इस बच्चे का अपहरण कर लिया जाए तो कितने पैसे की मांग की जा सकती है?

एक और बुरी चीज यह है कि बच्चे खुद को साबित किए बिना प्रसिद्ध होने की आदत विकसित करते हैं।

6. टिप्पणियों में अपमानजनक शब्द 

हम कई बार सोशल मीडिया पर गुस्से में कुछ बातें लिख देते हैं, जो अपराध की श्रेणी में अा सकता है।

किसी धर्म अथवा जाति का अपमान हो अथवा कोई ऐसी चीजें लिख देते हैं जो अपराध की श्रेणी में है।

हमें ऐसी टिप्पणियों से बचना चाहिए।

यहां तक ​​कि अगर आप किसी टिप्पणी को हटाते भी हैं, तो हो सकता है उसके स्क्रीनशॉट पहले से ही किसी ने ले लिए हैं।

7) कॉपी पेस्ट की समस्या

कई अच्छे पदों को इन दिनों कॉपी और पेस्ट किया जाता है।

लेखक का नाम हटा दिया जाता है। इच्छानुसार पद में परिवर्तन किया जाता है।

यह कॉपीराइट कानून के तहत अपराध है। यदि आपको लगता है कि कोई सूचना सभी के लिए अच्छी है, तो आप इसे अग्रेषित कर रहे हैं।

तो लेखक का नाम देकर उन्हें क्रेडिट देना बिल्कुल न भूलें।

लेखक काफी मेहनत से उन पदों को लिखते हैं। आपके क्रेडिट देने से वो और अधिक उत्साह से लिखेंगे।

8) सरकारी झूठी सूचनाओं को अग्रेषित कर देना 

कई बार आप whatsapp और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया पर देखते होंगे। सरकारी कागज का दुष्प्रचार हो जाता है।

कई सारी भर्तियों की भी झूठी पीडीएफ सूचना वायरल हो जाती है। इन्हें forward करने से बचें।

जब भी कोई सूचना अग्रेषित करें तो उसकी पूरी जानकारी की पुष्टि कर लें।

ऐसा आप सरकारी वेबसाइट अथवा विशेषज्ञ से पूछ कर पुष्टि कर सकते हैं।

दूसरी ओर

इसका दूसरा अच्छा पक्ष यह है कि आज कई समूह व्हाट्सएप और फेसबुक पर अनुशासित होकर काम कर रहे हैं।

इस समूह द्वारा बहुत सारे काम किए जा रहे हैं।

लेख चलाए जा रहे हैं। ज्ञानगंगा घर-घर बह रही है। हो सकता है कि ऐसे जिम्मेदार लोगों की संख्या बढ़े और यह देश सोशल मीडिया के दुष्प्रभाव से मुक्त हो सके।

दोस्तों, जैसे-जैसे दुनिया बदली है, सोशल मीडिया पर शिष्टाचार का पालन करना आवश्यक हो गया है। क्योंकि आजकल आपके व्यक्तित्व को स्मार्टफोन, सोशल मीडिया के इस्तेमाल की आपकी आदत से आंका जाता है।

हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी हमारे द्वारा परेशान न हो।

मनाचेTalks हिंदी

ऐसे ही अच्छे लेखों के अपडेट्स पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज मनाचे Talks हिंदी को लाइक करें। और वॉट्सएप पर लेख का अपडेट पाने के लिए यहां क्लिक करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *