कई बिमारियोंमे अदरक के घरेलू उपाय पढ़े इस लेख में

अदरक के घरेलू उपाय अदरक की जानकारी अदरक के फायदे

अदरक की चाय पीए बिना आपका दिन शुरू नहीं होता है। चाय और अन्य पेय पदार्थों में इस्तेमाल होने वाला अदरक भी भारतीय व्यंजनों का एक अभिन्न हिस्सा है।

भारत में आयुर्वेद में अदरक बहुत महत्वपूर्ण है। सूखे अदरक से बने अदरक पाउडर का व्यापक रूप से आयुर्वेदिक पाउडर और अर्क में उपयोग किया जाता है।

यदि आपको चक्कर आता है, मतली की समस्या है फिर तो अदरक आपके लिए रामबाण दवा है।

आइए देखते हैं अदरक के क्या क्या लाभ हैं।

1। अदरक एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट है:

अदरक का रस या सूखे अदरक पाउडर शरीर के लिए एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं। हम जो भोजन करते हैं उस भोजन में कुछ न कुछ विषाक्त तत्व होते हैं जो हमारा शरीर ग्रहण करता है।

और आज के समय में तो रासायनिक खादों से ही अनाज उपजता है। ऐसे में विषाक्त तत्व ये हमारे सफेद रक्त कोशिकाओं को नुक़सान पहुंचाता है। आपको जानकर अच्छा लगेगा यदि आप अदरक का सेवन करते हो तो इस नुक़सान से अदरक आपको काफी हद तक बचा सकता है।

अदरक शरीर से विषक्त पदार्थों को निकालने में मदद करता है। इसके लिए सुबह सुबह अदरक वाली ग्रीन टी लेना बेहतर होगा।

2। अदरक का उपयोग एलर्जी को रोकने के लिए किया जाता है:

अदरक एलर्जी के लिए भी उपयोग की जाती है। एंटी-एलर्जी दवा में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। यदि आपको अस्थमा, गले में खराश जैसी समस्या है तो अदरक का सेवन जरूर करें।

3। दर्दनाशक:

अदरक का सेवन शरीर में आंतरिक दर्द को कम करता है। मांसपेशियों में दर्द अथवा पेट अथवा सिर दर्द के लिए भी अदरक रामबाण औषधि है।

4। बेहतर स्वास्थ्य:

आज के तनाव भरे जीवन में कोलेस्ट्रॉल का शरीर में बढ़ना लाजमी है। ये कोलेस्ट्रॉल दिल के मरीज के लिए बहुत ही घातक होता है, अगर कोई दिल का मरीज नहीं भी है तो कोलेस्ट्रॉल की अधिकता उसे दिल का मरीज बना देती है।

कोलेस्ट्रॉल धमनियों में बनता है, और रक्तचाप को बढ़ा देता है। ये रक्त चाप बढ़ने से दिल पर प्रेशर बनता है। और आप दिल के कई बीमारियों से ग्रस्त हो जाते हैं।

ऐसे में यदि अदरक को आप दैनिक आहार में नाम मात्र में शामिल करें, तो कई गंभीर बीमारियों से आप बच सकते हैं।

इसके उपयोग से शरीर से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। अगर कोलेस्ट्रॉल कम होगा तो निश्चित रूप से आपका heart भी मजबूत रहेगा।

5। मधुमेह को ठीक करता है:

20 दिनों तक लगातार अदरक का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। डायबिटीज के मरीजों को यह जरूर आजमाना चाहिए।

6। कैंसर जैसी बीमारियों में कारगर:

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। लेकिन अदरक का उपयोग मध्यम अवस्था के कैंसर के लिए आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जाता है।

इनमें एंटी बायोटिक तत्व होते हैं और शरीर में कैंसर के प्रसार को रोकते हैं।

7। पेट, जिगर और मूत्राशय के रोगों में प्रभावी:

यह पेट की बीमारियों, लीवर की बीमारियों और मूत्राशय की बीमारियों के इलाज में अत्यधिक प्रभावी है। मतली और उल्टी से राहत देता है।

अदरक को ,पेट फूलना, अपच, जिगर की सूजन, भारी दवाओं के कारण या गुर्दे की सूजन के लिए घरेलू उपचार के रूप में लिया जाना चाहिए।

विटामिन ई के साथ आने वाले मिश्रण को लेने से किडनी का दर्द जल्दी ठीक हो सकता है।

मस्तिष्क और जिगर पर प्रतिकूल प्रभाव के लिए एक्सआर का अत्यधिक सेवन फायदेमंद है।

अदरक आपके इम्यून सिस्टम को भी बूस्ट करता है ताकि आप जल्दी बीमार न हों।

8। वजन घटाने के लिए उपयोगी:

वजन और फिटनेस के प्रति जागरूक लोगों को अपने शरीर के चयापचय को ठीक रखना होता है अन्यथा वजन तेजी से बढ़ता है।

वजन बढ़ने से मधुमेह, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और अन्य बीमारियां हो सकती हैं।

अदरक वजन घटाने में मदद करता है। और अन्य शिकायतों को भी दूर करता है।

यदि आप इन सभी बीमारियों को सहन नहीं कर पा रहे हैं तो डॉक्टर के पास जाना और सही उपचार प्राप्त करना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

जिस प्रकार अदरक के उत्कृष्ट लाभ होते हैं, उसी प्रकार अदरक भी होता है। कुछ लोगों को अदरक के सेवन से निम्नलिखित दुष्प्रभाव का अनुभव हो सकता है।

1। पेट में जलन
2। अतिसार
3। अदरक से एलर्जी पेट और पेट की परेशानी या मुंह में जलन पैदा कर सकती है।
4। मुंहासे त्वचा को प्रभावित कर सकते हैं।
5। मासिक धर्म महिलाओं में अत्यधिक रक्तस्राव का कारण बन सकता है।
6। बहुत अधिक अदरक खाने से हृदय गति भी प्रभावित हो सकती है।

इसलिए, दोस्तों, अगर अदरक को एक दवा के रूप में एक ही मात्रा में खाया जाता है और एक ‘भोजन’ के रूप में नहीं, तो शरीर अमृत बन जाता है। अन्यथा वह भी विष भी हो सकता है।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि यह जानकारी पेशेवर चिकित्सा के विकल्प के रूप में नहीं दी गई है। जानकारी को चिकित्सा का विकल्प न समझा जाए। ये सामान्य लक्षण के घरेलू उपचार हैं।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *