दो शब्द जो आपकी जिंदगी आसान बना सकते है।

धन्यवाद मेसेज हिंदी धन्यवाद इन हिंदी

दो शब्द जो आपकी जिंदगी आसान बना सकते है।

दो शब्द जो आपके दिल का बोझ कम कर सकते है।

दो शब्द जो उमंग और उत्साह की लहर ला सकते है।

दो शब्द जो आपको खुशमिजाज इंसान बनाते है।

दो शब्द जो आपके जीवन में सुकून ला सकते है।

धन्यवाद किस-किस का करना चाहिए।

परमपिता-परमेश्वर का

रोज सुबह उठते ही सबसे पहले हाथ जोड़कर उस प्रभु का आपके जीवन में एक नई सुबह लाने का धन्यवाद करना चाहिए। जाने कितने ही लोग बीती रात को अपनो को पीछे छोड़ कर इस दुनिया से विदा हो गए होगें।

हर वक्त जो नही है उसकी शिकायत छोड़कर जो प्रभु ने दिया है उसके लिए उनका धन्यवाद करना चाहिए। जब भगवान हमें खुशियां उपहार में देता है तो हम उसे हमारा भाग्य समझ कर रख लेते हैं, तब हम भगवान् का धन्यवाद नहीं करते, लेकिन जब हम पर कठिनाई, दुख, परेशानी आती है तो हमें तुरंत ईश्वर याद आते हैं और इन परेशानियों के निराकरण के लिए भगवान की ओर देखते हैं, उनसे शिकायत करते है।

यदि हम लोग अपनी छोटी-छोटी खुशी में भगवान को याद करें और उनका धन्यवाद दें तो हमेशा भगवान का आशीर्वाद हमारे साथ रहेगा।

माता-पिता का

हमारी संस्कृति में जिन्हें इस दुनिया मे उस परम पिता परमेश्वर के बाद भगवान के समान दर्जा प्राप्त है। ये वहीं है जो आपको इस दुनिया में लाए है। जिनके लिए आप कभी बड़े नही होते। जो हमेशा आपके दुख में दुखी और सुख में सुखी होगें। जिनकी दुआओं में आपकी किस्मत बदलने की ताक़त है। जो आपके सबसे पहले गुरु होते है।

एक प्रचलित गीत जिसके बोल कितने सार्थक है,

ये तो सच है कि भगवान है,

है मगर फिर भी अनजान है,

दुनिया मे रुप मां-बाप का,

उस विधाता की पहचान है।

लेकिन युवा पीढ़ी इन संस्कारों से अनजान है। बड़े-बुजुर्गों का सबके बीच रहते हुए भी एकाकीपन और वृद्धाश्रम इसी का उदाहरण है।

गुरु का

गुरु गोबिंद दोऊ खड़े, काके लागूं पाय।

बलिहारी गुरु आपने, गोबिंद दियो मिलाए।।

यह दोहा गुरु का दर्जा बताता है जो भगवान से भी पहले आता है। गुरु ही आपको प्रभु से मिलने का रास्ता दिखाते है। गुरु ही आपको इस दुनिया में सर उठा कर सम्मान पूर्वक जीने के काबिल बनाते है।

हर उस व्यक्ति का जो आपके कार्य में आपका सहयोग करते है। चाहे वो हर व्यक्ति उस कार्य के बदले तनख्वाह लेते है पर एक छोटा सा शब्द “धन्यवाद” उनके दिल को छूता है। कार्य की सराहना उनके मन को प्रसन्न कर देती है और उस प्रसन्नता, स्फूर्ति और उत्साह का असर उनके कार्य पर साफ दिखाई देता है।

हर उस व्यक्ति को जिसके दिल में आप अपने लिए सच्ची भावनाएं महसूस करें।

‘धन्यवाद’ हमेशा मुस्कुराकर और जिसे धन्यवाद कह रहे है उसकी नजरों में नजरें डालकर बोलें। ये छोटे-छोटे हाव-भाव आपके ‘धन्यवाद’ की कीमत को बढ़ाते है।

Gratitude is the best attitude!

माफ़ी

मांगने से अहंकार खत्म होता है, जबकि क्षमा करने से संस्कार बनते है। माफ़ी मांगने से कोई छोटा नही होता और माफ करने वाले से कोई बड़ा नहीं होता। हर व्यक्ति सर्व गुण संपन्न नही होता, गलती किसी से भी हो सकती है।

लेकिन अपनी गलती को मानना हर किसी के बस की बात नहीं है। “मुझे माफ़ करना” ऐसे शब्द जो आज की पीढ़ी बोलने वाला बहुत हिचकती है, बोलने से पहले सौ बार सोचती है चाहे अपने परिवार वालों से ही क्यों ना बोलना हो।

गलती मानकर माफ़ी मांगना आपके दिल के बोझ को हल्का कर देता है। आप चाहें माने या ना माने लेकिन अगर आपने गलती की है तो आपका दिल ज़रूर पहचानेगा। माफी मांगना और माफ़ करना आपके रिश्तों को मज़बूत करता है।

रिश्तों में पड़ने वाली गांठ को खोलता है। माफ़ी मांगने से आप सही या ग़लत नहीं हो जाते बल्कि माफ़ी मांगना यह साबित करता है कि रिश्ता आपके अहंकार से ज्यादा बड़ा है।

माफ करना

जिसने हमारे साथ गलत किया है यदि हम उसे माफ नहीं करते है तो हम अपने दिल को घृणा, नफरत और द्वेष जैसी भावनाओं से भर देते है। यदि हम उसे माफ कर देते है तो हम अपने दिल का बोझ कम देते है। हम दोस्ती को इतना याद नही करते जितना नफरत को करते है। हमारा सारा ध्यान सिर्फ उसी को नुकसान पहुंचाने में रहता है। हम अपने कार्य पर ध्यान नहीं दे पाते। जो हमारी तरक्की की राह को रोकता है।

निष्कर्ष

मनुष्य अपने जीवन में बहुत से एहसासों से भरा रहता है जैसे – क्रोध, ईर्ष्या, प्रेम, लगाव, संदेह, विश्वास, प्रतियोगिता आदि, परंतु धन्यवाद, सराहना और माफ करना या माफी मांगना, इन सभी भावों से बढ़कर है। सभी एहसासों में सर्वोपरि है, सभी जज्बातों में सबसे ऊपर है।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *