भारत का नहीं कभी इस देश का व्यंजन रहा था समोसा, बड़ा मजेदार है समोसे का भारत तक का सफर

समोसा का इतिहास क्या है?

भारत और भारत की संस्कृति के साथ-साथ भारत का खानपान पूरी दुनिया में एक अलग स्थान रखता है।

यहां कई पकवान विदेशियों को अपनी ओर खींचते हैं।

भारत में आने वाले विदेशियों से जब बात की जाती है तब वे एक बात हमेशा कहते हैं कि हमें भारत का खाना सबसे अच्छा लगता है। यहां के खाने में विभिन्नता है और स्वाद है।

भारत के खाने में कई ऐसे व्यंजन है जो विदेशियों को बहुत ज्यादा पसंद है। उन सभी व्यंजनों में समोसा सर्वप्रमुख है।

समोसा तो भारत के लोगों में भी काफी प्रसिद्ध है। दो दोस्त मिले और समोसा पार्टी हो जाती है।

घर पर कोई नहीं है और खाने का कुछ मन तो कर रहा है लेकिन खाना बनाने का मन नहीं कर रहा हो तब समोसा ही सबसे अच्छा विकल्प नजर आता है।

हम लोग अब तक यही समझते आए हैं कि समोसा भारतीय व्यंजन है लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह आपके मन का वहम है।

समोसा भारत का नहीं बल्कि विदेशी व्यंजन है जो बाद में भारत में प्रचलित हो गया था।

इस खबर के माध्यम से हम आपको बताने जा रहे हैं कि समोसा कहां से आया है और लोगों ने इसे कब से खाना शुरू किया है ?

कहां से आया समोसा

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि समोसा ईरान में पैदा हुआ था। लेकिन वहां पर समोसे में आलू नहीं भरा जाता था

बल्कि उसकी जगह ड्राई फ्रूट या फिर कीमा भरा जाता था।

लेकिन जब समोसा विदेशी यात्रियों और व्यापारियों की मदद से भारत आया तब इसमें कई तरह के संशोधन हुए।

आप एक बात और समझ लीजिए कि समोसा शब्द की उत्पत्ति अरबी भाषा के संबोसाग से हुई है।

कुछ लोग तो यह भी बताते हैं कि महमूद गजनबी नमकीन पेस्ट्री खाता था जो समोसे का ही एक रूप था।

पुर्तगाली जब भारत आए तब उन्होंने समोसे में आलू भुजिया और फिर यहां पर समोसे में आलू प्रसिद्ध हो गया।

तेल में नहीं सेका जाता था समोसा

हम आज समोसे को तेल में फ्राई करते हैं लेकिन हम अगर इसके इतिहास में जाएं तो इसको तेल में नहीं सेंका जाता था

जो समोसा भारत आया था तो इसमें कई तरह की बदलाव किए गए थे।

इसमें ड्राई फ्रूट्स और कीमा की जगह आलू, पनीर, टमाटर, मटर पालक जैसी चीजों ने ले ली। अब हम इसे नाश्ते में स्नेक्स की तरह इस्तेमाल करते हैं।

लेकिन 10 वीं शताब्दी में समोसे को दोपहर के खाने या फिर रात के खाने के साथ खाया जाता था।

उस समय समोसे को तेल में फ्राई नहीं किया जाता बल्कि आग में भूना जाता था।

भारत के हर कोने में मिल जाएगा समोसा

समोसा बनाने में कई तरह की मसाले समोसे की स्टेफिंग में इस्तेमाल किए जाते हैं।

इसमें धनिया जीरा काली मिर्च अदरक प्रमुख मसाले हैं।

समोसे की प्रसिद्धि का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि समोसे को आप भारत के किसी भी हिस्से में देख सकते हैं।

हालांकि जगह के हिसाब से समोसे में छोटा-मोटा परिवर्तन होता है लेकिन आपको समोसा हर जगह मिल जाएगा।

अपने दोस्तों में लेख शेअर करें मनाचेTalks हिन्दी आपके लिए ऐसी कई महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ लेके आ रहा है। हमसे जुड़ने के लिए हमारा फेसबुक पेज मनाचेTalks हिन्दी को लाइक करिए और हमसे व्हाट्स ऐप पे जुड़े रहने के लिए यहाँ क्लिक करे। टेलीग्राम चैनल जॉइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *